संस, बठिडा : पंजाब स्कूल एजुकेशन बोर्ड की तरफ से घोषित बारहवीं के नतीजों की शारीरिक शिक्षा के अध्यापकों द्वारा निदा की गई। अध्यापक हरमंदर सिंह ने कहा कि बारहवीं के हुए पहले दो पेपरों को देखकर ही उस आधार पर नंबर लगा दिए गए, जिस कारण उस आधार पर नतीजा सही घोषित नहीं किया गया। उन्होंने बताया गुरजिदर सिंह ने राज्य स्तर में तीसरी पोजिशन हासिल की है, लेकिन उसके प्रतियोगी परीक्षाओं में 40 अंकों में केवल 15 अंक ह लगाए गए, जिस कारण उसके अंकों की प्रतिशत कम रह गई। जिस विद्यार्थी ने किसी भी खेल में भाग नहीं लिया, उनके परीक्षा में 40 अंकों में से 38 अंक लगाए गए हैं। इस तरह गुरप्रीत कुमार व गुरविदर सिंह ने क्रमवार प्रतियोगी परीक्षाओं में 25 में से 18 अंक हासिल किए हैं। वहीं दिनेश कुमार ने स्टेट गेमों में पोजिशन हासिल की है। इसके अलावा नियमों के आधार पर खेल वाले विद्यार्थियों के दस अंक रखे गए थे, जोकि शामिल नहीं किए गए। इस दौरान समूह शारीरिक शिक्षा विभाग ने मांग की जो विद्यार्थी खेलों से संबंधित है, उनको ग्रेस माक्स दिए जाएं। इस बार एसीआर में दिए गए अंकों के कारण शारीरिक शिक्षा के विद्यार्थियों का नतीजा प्रभावित हुआ है

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!