गुरप्रेम लहरी, ब¨ठडा :

जोन गिल कला से आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी ह¨रदर सिंह ¨हदा की हत्या के पीछे कोई राजनीतिक रंजिश नहीं थी। हत्या के पीछे परिवार के एक सदस्य का हाथ भी था। पुलिस के हाथ कुछ अहम सुराग लगे हैं जिससे शक की सूई अपनों की ओर घूम गई है। हालांकि फिलहाल पुलिस परिवार के उस सदस्य के नाम और रिश्ते का खुलासा नहीं कर रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हत्या के आरोपित अभी हाथ नहीं आए हैं। उनके पकड़े जाने पर सबकुछ साफ हो जाएगा।

पुलिस सूत्रों के अनुसार जांच ¨हदा के घर पर ही आकर रुक गई है। जो तीन लोग उसके घर आए थे वे अजनबी नहीं हो सकते। परिवार में कोई उन्हें नहीं जानता हो ऐसा नहीं हो सकता। हत्या के पीछे परिवार के ही किसी सदस्य का हाथ है। उसी ने बाहर से तीन लोगों को बुलाया था।

गौरतलब है कि 9 सितंबर की रात को जिला परिषद चुनाव के प्रत्याशी ह¨रदर ¨सह ¨हदा का घर में ही कत्ल कर दिया गया था। उसकी पत्नी ने पुलिस का बयान दिए थे कि शाम को तीन लोग ह¨रदर के घर पर आए थे। वे सभी देर रात तक शराब पीते रहे। वह बेटे को साथ लेकर ऊपर की मंजिल में जाकर सो गई। सुबह जब चाय देने के लिए कमरे में आई तो कमरे में खून से लथपथ ¨हदा का शव पड़ा था। ह¨रदर ¨हदा चुनाव लड़ रहा होने के चलते काफी गंभीर बन गया। आम आदमी पार्टी के नता इसको सियासी कत्ल मान रहे थे।

जल्द होगी गिरफ्तारी, पुलिस कर रही छापामारी

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि ¨हदा की हत्या के पीछे परिवार के ही एक शख्स का हाथ है। उसके नाम का खुलासा अभी नहीं किया जा सकता चूंकि आरोपितों की गिरफ्तारी अभी बाकी है। पुलिस आरोपितों की तलाश में छापामारी कर रही है। कई टीमें इस काम में लगी हैं। जल्द ही गिरफ्तारी हो जाएगी।

Posted By: Jagran