जसवंत कौशिक, बठिडा : लोगों को साइकिलिंग के साथ जोड़ने वाले बठिडा साइकिलिग ग्रुप के साथ धीरे-धीरे शहर के लोग जुड़ने लगे है। इस ग्रुप से प्रेरित होकर छोटी बच्चियां भी जुड़ने लगी हैं।इन बच्चियों की आयु भी 10 साल से कम है और इनमें साइकिल चलाने का क्रेज इतना है कि वह एक दिन में 50-50 किलोमीटर तक साइकिल चला रही हैं। इस समय 10 साल की तीन बच्चियां ग्रुप की तरफ से आयोजित की गई राइड में शामिल होकर 50-50 किलोमीटर तक साइकिल चला चुकी हैं। बेशक अभी तक उन्होंने एक-एक ही राइड लगाई है। लेकिन भविष्य में वह ओर भी आगे बढ़कर साइकिल चलाने का उद्देश्य रखती हैं।

बठिडा के सेंट जोसेफ स्कूल की 10 साल की छात्रा परीशा, सिल्वर ओक्स स्कूल की 10 साल की राभ्य मोंगा व सेंट जेवियर स्कूल की नौ साल की रहमत कौर साइकिल चला रही हैं। इन बच्चियों ने बठिडा से गांव जीदा तक 50 किलोमीटर साइकिल चलाया है। इन्होंने अपने अभिभावकों को देखकर साइकिल चलाना शुरू किया है, जो पिछले कई सालों से ग्रुप के साथ जुड़कर साइकिल चला रहे हैं।

राभ्य मोंगा के पिता करण मोंगा सालासर तक भी साइकिल चला चुके हैं। बच्चियों के इस काम को पूरा करने के लिए उनके अभिभावक पूरा साथ दे रहे हैं। ये बच्चियां साइकिल ग्रुप की ओर से हर महीने आयोजित की जाने वाली राइड में भाग लेती हैं। इनकी खासियत है कि यह साइकिल चलाते समय सेफ्टी का भी पूरा ध्यान रखती हैं। जो हर समय हेल्मेट पहन कर ही साइकिल चलाती हैं।

वहीं, बठिडा साइकिलिग ग्रुप के मेंबर डॉ. अमृत सेठी ने 2013 से ग्रुप की शुरुआत की थी। जिनके साथ उस समय चार मेंबर थे, जिसमें धीरे-धीरे शहर के अन्य लोग भी जुड़ते रहे। वहीं, ग्रुप में अब 10 साल से लेकर 75 साल तक के बुजुर्गो के अलावा महिलाओं समेत परिवार भी शामिल हैं।

इसके अलावा ग्रुप के कई मेंबर कश्मीर से कन्याकुमारी तक भी साइकिल पर सफर कर चुके हैं। वहीं, ग्रुप की हर राइड किसी न किसी मैसेज को समर्पित होती है।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!