जागरण संवाददाता, बठिडा : अमृतसर से जामनगर तक बनने वाली रोड के लिए एक्वायर की जाने वाली जमीन के मालिकों ने शुक्रवार को हाई सिक्योरिटी जोन जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स के डीसी मीटिग हाल में डीसी की कुर्सी पर ही कब्जा कर लिया। किसान जिला प्रशासन के बुलाने पर प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के अधिकारियों के साथ होने वाली मीटिग के लिए पहुंचे थे। लेकिन जब किसान मीटिग में जाने लगे तो उनको पुलिस ने गेट पर ही रोक लिया। इसके विरोध में किसानों ने प्रदर्शन किया।

यहां तक कि किसानों ने यह आरोप भी लगाया कि प्रशासनिक अधिकारियों ने जाली किसानों के साथ बैठक की है। इस कारण उनको जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स का गेट फांदकर मीटिग हाल में जाना पड़ा। जबकि तहसीलदार सुखबीर सिंह बराड़ के मौके पर पहुंचने के बाद जब किसानों को मीटिग रद होने का आश्वासन मिला तो उन्होंने धरना समाप्त किया। जबकि नेशनल हाईवे की ओर से अमृतसर से जामनगर तक एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जा रहा है। इसका काम राजस्थान में तो शुरू हो गया है लेकिन अब पंजाब में काम शुरू होने वाला है तो किसान जमीन देने से मना कर रहे हैं। किसानों का आरोप है कि अगर यह सड़क बन जाती है तो जिस खेत से यह निकलेगी, वहां पर उनके खेत दो भागों में बंट जाएंगे। क्योंकि सड़क से दूसरी तरफ जाने के लिए बीच में कोई कट नहीं दिया जा रहा है।

धरने के दौरान जगजीत सिंह ने बताया कि प्रशासन ने गांवों में अनाउंसमेंट की थी कि जमीन एक्वायर करने को लेकर एतराज सुनने के लिए शु्क्रवार को मीटिग की जाएगी। मगर जब वह यहां पर पहुंचे तो उनको अंदर जाने नहीं दिया। जब उनको पता चला कि प्रशासन ने जाली किसानों को बिठाया है तो ही विरोध किया गया। यहां तक कि पुलिस ने उनको जाने से रोकने के लिए गेट तक बंद कर दिया। इस कारण उनको जिला प्रबंधकीय कांप्लेक्स का गेट फांदकर अंदर जाना पड़ा। उन्होंने बताया कि सरकार जमीन एक्वायर कर उनके साथ धोखा करना चाहती है, जिसको किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पाल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के अधिकारियों से थी बैठक

तहसीलदार सुखबीर सिंह बराड़ ने बताया कि किसानों के एतराज सुनने के लिए पाल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के अधिकारियों की मीटिग थी। लेकिन अब किसान इसका विरोध कर रहे हैं, जिसको देखते हुए मीटिग को स्थगित कर दिया गया है। इसके लिए उनकी डीसी के साथ बात हो चुकी है। उन्होंने बताया कि किसानों की समस्याओं को हर हाल में हल किया जाएगा।

Edited By: Jagran