जेएनएन, बठिंडा। मात्र 20 दिन बाद बेटी की शादी थी, मगर कर्ज में डूबा किसान अपनी बेटी के हाथ पीले करने में खुद को असमर्थ महसूस कर रहा था। हर तरफ से निराश होकर उसने जहरीला पदार्थ निगल कर मौत को गले लगा लिया। थाना नहियांवाला पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई के बाद शव पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों के हवाले कर दिया।

पुलिस के अनुसार गांव कोठे चेत सिंह वाला निवासी जसवीर सिंह डेढ़ एकड़ जमीन का मालिक था। उस पर बैंक का पौने दो लाख का कर्ज था। इसके अलावा तीस हजार रुपये आढ़ती को भी देने थे। माली हालत खराब होने के कारण काफी समय से बिजली का बिल भी अदा नहीं कर पा रहा था। उस पर पावरकॉम का भी 24 हजार रुपये बिल बकाया था।

कीटनाशक डीलर को भी 17 हजार रुपये देने थे। ऐसी स्थिति में वह और कर्ज भी नहीं ले सकता था। उधर बेटी की शादी को केवल 20 दिन ही बचे थे और वह कोई तैयारी नहीं कर पाया था।  इसको लेकर वह परेशान रह रहा था। गांव के पंच बलजीत सिंह ने बताया कि मानसिक परेशानी के चलते वीरवार को उसने घर में पड़ा कीटनाशक निगल लिया। हालत बिगड़ने पर उसे नेहियांवाला स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। गांव वालों मांग की है कि सरकार मृतक परिवार को मुआवजे के तौर पर रकम जारी करे, ताकि उसकी बेटी की शादी करवाई जा सके।

यह भी पढ़ें: प्रेमी संग आपत्तिजनक हालत में थी महिला, पति ने दोनों को गोलियों से भून डाला

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!