जासं, बठिडा : बीती 25 जून से लगातार एनपीए के विरोध में हड़ताल पर चल रहे जिले के सरकारी मेडिकल, वेटरनरी, आयुर्वेदिक, डेंटल, होम्योपैथी डाक्टर सोमवार को भी हड़ताल जारी रखेंगे। सोमवार को भी जिले के किसी भी सिविल अस्पताल में डाक्टरों की ओपीडी नहीं होगी। वहीं मेडिकल करने, एमएलआर काटने, आपरेशन करने, लैब टेस्ट समेत तमाम मेडिकल सेवाएं ठप बंद रहेंगी। पंजाब सिविल मेडिकल सर्विस एसोसिएशन के आह्वान पर जब तक सरकार उनकी लिखित में मांगों को पूरा नहीं करती है, उनकी हड़ताल जारी रहेगी। डाक्टरों ने कहा कि सरकार पहले भी कई बार उन्हें झूठा आश्वासन दे चुकी है, इसलिए जब तक सरकार उनकी लिखित में मांगों को पूरा नहीं कर देती, उनका हड़ताल खत्म नहीं होगी। सोमवार को भी डाक्टर हड़ताल पर रहेंगे। बता दें कि समूह डाक्टरों द्वारा नान प्रैक्टिस अलाउंस को बेसिक सैलरी से डिलिक करने और एनपीए में 25 फीसदी से 20 फीसदी की गिरावट करने के कारण विरोध कर रहे हैं। डाक्टरों की हड़ताल से अब सर्जरी पर भी प्रभाव पड़ने लगा है। शनिवार को अस्पताल में मरीज इलाज के लिए पहुंचे, लेकिन काफी इंतजार के बाद भी उन्हें डाक्टर नहीं मिले। फिलहाल इमरजेंसी व कोविड सेवा जारी रही।

जिले लगातार तीसरे दिन भी कोरोना से नहीं हुई कोई मौत

बठिडा में डीसी बी श्रीनिवासन ने बताया कि जिला निवासियों के लिए राहत वाली खबर यह है कि लगातार तीसरे दिन भी कोरोना प्रभावित किसी व्यक्ति की मौत नहीं हुई। बीते 24 घंटों के दौरान सात नए केस मिले हैं, जबकि 17 कोरोना मरीज ठीक हुए हैं। डीसी ने बताया कि अब तक कोरोना प्रभावित 1039 मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि इस समय जिले में कुल 72 एक्टिव केस हैं, जिसमें 52 कोरोना पाजिटिव होम क्वारंटाइन हैं। डीसी ने बताया कि जिले में कोविड -19 के अंतर्गत अब तक कुल 437121 सैंपल लिए गए, जिनमें से 41492 पाजिटिव केस आए, जबकि 40381 कोरोना प्रभावित मरीज ठीक हो चुके हैं।

Edited By: Jagran