जागरण संवाददाता, बठिडा: नगर सुधार ट्रस्ट बठिडा के एक्सईएन इंजी. गुरराज सिंह का कहना है कि शहर का हर प्रकार से विकास किया जाएगा। इसके लिए चल रहे विकास कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। उनका मकसद है कि विकास कार्य में किसी भी प्रकार की दिक्कत न आए। यहां तक कि जो नए प्रोजेक्ट शुरू होने हैं, उनको भी पहल के आधार पर पूरा किया जाएगा। पेश है कि इंजी. गुरराज सिंह के साथ विशेष बातचीत। सवाल: शहर में चल रहे विकास कार्यों की क्या स्थिति है?

- शहर में चल रहे विकास कार्य पूरी तेजी से चल रहे हैं। इनको हर हाल में नए साल से पहले पहले पूरा करने का टारगेट लिया गया है। हमारी कोशिश है कि इनमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न रहे। इसके लिए ट्रस्ट के स्टाफ मेंबर दिन-रात एक कर काम करते हैं, जबकि जरूरत पड़ने पर काम करने वालों की खिचाई भी की जाती है। सवाल: बठिडा के बस स्टैंड की क्या स्थिति है?

- बस स्टैंड का प्रोजेक्ट बनकर तैयार हो चुका है। इसके लिए फंड भी क्लियर हो चुका है, लेकिन अभी तक कैंट से एनओसी नहीं मिली। इसको लेने के लिए ट्रस्ट द्वारा लगातार काम किया जा रहा है। उनको जैसे ही कैंट द्वारा एनओसी को जारी कर दिया जाएगा, उसके तुरंत बाद बस स्टैंड के निर्माण का काम शुरू कर दिया जाएगा। सवाल: ट्रस्ट की खस्ताहाल कालोनियों को लेकर क्या योजना है?

- ट्रस्ट की इस समय कोई भी कालोनी खस्ताहाल में नहीं है। जहां-जहां समस्या थी, वहां-वहां पर टेंडर लगाकर काम करवा दिए गए हैं। अगर कहीं पर कोई दिक्कत है तो उसको धीरे-धीरे हल कर दिया जाएगा। ट्रस्ट की जमीन पर कोई कब्जा न कर सके, इसके लिए ट्रस्ट अपनी साइटों की पूरी देखरेख कर रहा है। सवाल: मनमोहन कालिया फ्लैट की हालत काफी खस्ता किस कारण है?

- ट्रस्ट की ओर से गोनियाना रोड पर मनमोहन कालिया फ्लैट का निर्माण करवाया गया था। इसमें कुल 96 फ्लैट हैं, जिसमें से काफी लोगों को अलाट भी कर दिए गए हैं, लेकिन ज्यादातर लोग इसमें रहने के लिए नहीं आ रहे। इस कारण फ्लैट के अंदर की हालत ठीक नहीं है। जो ट्रस्ट का काम होता है, वह पूरी गंभीरता से किया जा रहा है। सवाल: इन्हासमेंट व नान कंस्ट्रक्शन चार्जेस पर ट्रस्ट की क्या तैयारी है?

- नान कंस्ट्रक्शन चार्जेस कई बार ऐसे लोगों को डाले जाते हैं, जिनके द्वारा जगह खरीदने के बाद उस पर निर्माण नहीं किया जाता, लेकिन अब सरकार द्वारा इन्हासमेंट व नान कंस्ट्रक्शन चार्जेस को लेकर काम किया जा रहा है। इस पर जैसा फैसला आएगा, उसको उसी प्रकार से लागू किया जाएगा। लोगों पर अतिरिक्त बोझ नहीं डाला जाएगा।

Edited By: Jagran