जागरण संवाददाता, ब¨ठडा : राज्य के वित्तमंत्री व क्षेत्र के विधायक मनप्रीत ¨सह बादल ने बजट में ब¨ठडा में नया ग्रोथ सेंटर बनाने की घोषणा की है। वित्तमंत्री की इस घोषणा का उद्यमियों की ओर से स्वागत भी किया जा रहा है, लेकिन पुराने ग्रोथ सेंटर में अभी तक मूलभूत सुविधाएं भी न होने के चलते इसकी आलोचना भी खूब हो रही है। गौरतलब है कि मानसा रोड स्थित करीब 400 एकड़ में बने हुए पुराने ग्रोथ में उद्यमियों के अनुसार सीवरेज जैसी बुनियादी सुविधा भी नहीं है। जरूरत थी पहले इस पुराने ग्रोथ सेंटर को पूरी तरह से विकसित करने की, ताकि वहां पर नई इंडस्ट्री लग सके। ब¨ठडा में दो फोकल प्वाइंट जोकि आइटीआइ चौक व डबवाली रोड पर स्थित हैं। जबकि मानसा रोड पर ग्रोथ सेंटर है। पहले में पड़े खाली प्लॉट

सरकार के पल्ले कुछ नहीं है। सरकार से उम्मीद भी कोई नहीं थी। नए ग्रोथ सेंटर की क्या जरूरत है। पहले वाले तो बुरी तरह बदहाल हैं। बुनियादी सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं है। मानसा रोड स्थित पहले ग्रोथ सेंटर में 50 प्रतिशत प्लॉट खाली पड़े हैं। पुरानी इंडस्ट्री लगातार बंद हो रही है। जरूरत है जो पहले लगी इंडस्ट्री को किसी न किसी तरह से बचाने की।

- सुख¨वदर ¨सह जग्गी, ब¨ठडा स्माल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन। पहला ग्रोथ सेंटर बदहाल

पहले ग्रोथ सेंटर में सीवरेज भी नहीं है। एक दर्जन से अधिक बार वे कमिश्नर को मिल चुके हैं। लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। खाली प्लाट पड़े हैं। ग्रोथ सेंटर की आज तक चारदिवारी नहीं हो सकी। सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं हैं।

- बल¨वदर ¨सह अकलिया, उप प्रधान इंडस्ट्रियल ग्रोथ सेंटर आनर्स एसोसिएशन। घोषणा का स्वागत होना चाहिए

यह घोषणा बेहद खुशी देने वाली है। उद्यमियों को वित्तमंत्री मनप्रीत ¨सह बादल का आभार व्यक्त करते हुए इसका स्वागत करना चाहिए। नए ग्रोथ सेंटर की जरूरत भी थी। नई इंडस्ट्री लगाने के इच्छुक लोगों को जगह नहीं मिल रही है। पहले ग्रोथ सेंटर में सभी प्लॉट बिके हुए हैं।

- रमन वाट्स, प्रधान ब¨ठडा चेंबर आफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज। स्वागत योग्य है घोषणा

निसंदेह यह घोषणा स्वागत योग्य है। पिछले दो सालों के दौरान पुराने ग्रोथ सेंटर का काफी विकास हुआ है। अब नए ग्रोथ सेंटर की जरूरत थी। लेकिन राज्य सरकार को नई इंडस्ट्री लगाने के लिए कोई विशेष सहूलियतें भी देनी चाहिएं। ताकि नई इंडस्ट्री लग सके।

- मोहनजीत पुरी, प्रधान ब¨ठडा वेलफेयर एसोसिएशन।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!