गुरप्रेम लहरी, ब¨ठडा

पंजाब सरकार की ओर से जारी किए गए बजट में ब¨ठडा के सरकारी अस्पताल को नए सिरे से बनाने का एलान किया है। हालांकि इसका लोगों को कोई ज्यादा फायदा मिलने वाला नहीं है। क्योंकि अस्पताल की आधे से ज्यादा बि¨ल्डग पहले से ही बनी हुई है। नए अस्पताल में जनता के लिए कम स्टाफ व अधिकारियों के लिए ही इमारतों का निर्माण ज्यादा होगा। ब¨ठडा के सिविल अस्पताल में पहले से ही आधे से ज्यादा इमारतें नई बनाई गई हैं। इनमें ओपीडी, नशा छुड़ाओ केंद्र, चिल्ड्रन अस्पताल आदि की इमारतें बिलकुल नई हैं।

ये इमारतें बनेंगी नई

एडमिन ब्लॉक

ब¨ठडा के सिविल अस्पताल में सिविल सर्जन के अलावा अन्य एडमिन स्टाफ के बैठने वाली इमारत काफी पुरानी है। इस नई योजना के तहत इस इमारत को नया बनाया जाएगा। इसमें पब्लिक डी¨लग का कोई काम नहीं होता, यानि इस इमारत का आम लोगों को कोई फायदा नहीं होगा। कर्मियों को क्वार्टर

ब¨ठडा के सिविल अस्पताल में कार्यरत कर्मियों के रहने के लिए बनाए गए क्वार्टर खस्ताहाल थे। वे काफी समय से इनकी रिपेयर की भी मांग कर रहे थे लेकिन उनकी समस्या पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। अब इस योजना में क्वार्टर भी तैयार किए जाएंगे। इनका भी फायदा सिर्फ स्टाफ सदस्यों को ही होगा। मोर्चरी

सिविल अस्पताल में स्थित मोर्चरी की इमारत भी काफी पुरानी है। इसको भी नया बनाए जाने की योजना है।

--

इमरजेंसी व इनडोर

इमरजेंसी व इनडोर की पूरी इमारत खस्ताहाल है और बहुत पुरानी है। जहां पर पहले ओपीडी थी वहां पर अब इमरजेंसी बना दी गई है। वहीं ओपीडी नई इमारत में शिफ्ट कर दी गई। इमरजेंसी व इनडोर की नई इमारत बनने से जिले के लोगों को काफी फायदा पहुंचेगा।

यह इमारतें पहले ही नई

ओपीडी की इमारत

सिविल अस्पताल में मरीजों का चेकअप करने के लिए ओपीडी की इमारत कुछ साल पहले ही बनाई गई थी। इसके अलावा नशा छुड़ाओ केंद्र की इमारत अभी बनाई गई है। इसको तो अभी तक पूरी तरह से शुरू भी नहीं किया गया। इस इमारत की पहली फ्लोर पर रखा सामान धूल फांक रहा है।

चिल्ड्रन अस्पताल

इसके अलावा चिल्ड्रन अस्पताल की इमारत भी बिलकुल नई है।

----

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!