गुरप्रेम लहरी बठिडा: पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश चौधरी व आब्जर्वर हर्षवर्धन की मौजूदगी में वित्तमंत्री मनप्रीत बादल व विधायक जगदेव कमालू के खिलाफ कांग्रेस वर्करों ने जमकर नारेबाजी की। असल में कांग्रेस के वर्कर अपने पसंदीदा नेता को कांग्रेस की टिकट दिलाना चाहते थे। इस संबंध में वीरवार को बठिडा पहुंचे हरीश चौधरी से वे मीटिग करके अपने नेता की सिफारिश करने के लिए आए हुए थे, लेकिन इसी बीच उन्होंने पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल व मौड़ हलके के विधायक जगदेव कमालू के खिलाफ नारेबाजी भी कर दी।

वहीं बठिडा देहाती के वर्करों के साथ जब बैठक करने के लिए पंजाब प्रभारी हरीश चौधरी उनके पास पहुंचे तो वर्करों ने उनको दोटूक कहा कि अगर हलका इंचार्ज हरबिदर लाडी को टिकट न दी तो वे बठिडा शहरी, बठिडा देहाती व भुच्चो हलके में कांग्रेस के उम्मीदवारों को हरा देंगे। कांग्रेस वर्करों ने पंजाब कांग्रेस के इंचार्ज के सामने पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल पर धक्काशाही के आरोप भी लगाए। हलके के 52 सरपंचों ने कहा कि वित्तमंत्री ने उनके हलके में न तो खुद ग्रांट दी और न ही कोई विकास कार्य ही होने दिया। उन्होंने कहा कि भले ही पहले दस साल शिअद का तांडव रहा। अब पांच साल वित्तमंत्री ने कोई ग्रांट नहीं दी। फिर भी हम कांग्रेस के हलका इंचार्ज के साथ खड़े हुए हैं। इसके बाद वर्करों ने मनप्रीत बादल के विरुद्ध नारेबाजी की, जबकि ट्रांस्पोर्ट राजा वड़िंग के पक्ष में नारेबाजी की। हरबिदर लाडी ने पंजाब प्रभारी को कहा कि गुरजंट मौका परस्त हैं। उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के प्रत्याशी राजा वड़िंग का विरोध किया था। अब वित्तमंत्री उनको टिकट दिलाने की सिफारिश कर रहे हैं। मौड़ मंडी में विधायक कमालू व मंजू बाला के बीच फंसा पेंच कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीष चौधरी हलकावाइज वर्करों को मिल रहे थे। जब वे तलवंडी साबो के वर्करों को मिलने के बाद मौड़ मंडी हलके की दावेदार मंजू बंसल के साथ आए वर्करों से बातचीत कर रहे थे तो आम आदमी पार्टी छोड़ कर कांग्रेस में शामिल होने वाले विधायक जगदेव कमालू के वर्करों ने कमालू के पक्ष में नारेबाजी कर दी। इसके बाद जब चौधरी जगदेव कमालू के वर्करों से मिल रहे थे तो मंजू बंसल के समर्थकों ने विधायक जगदेव कमालू के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कांग्रेस की गुटबाजी खुल कर आई सामने

वीरवार को कांग्रेस की गुटबाजी खुल कर सामने आ गई। बठिडा देहाती हलके के लिए मनप्रीत बादल ने गुरजंट सिंह कुत्तीवाल को टिकट देने की वकालत की जबकि ट्रांस्पोर्ट मंत्री राजा वडिग ने मौजूदा हल्का इंचार्ज हरबिदर सिंह लाडी को टिकट देने की सिफारिश की। मनप्रीत ने वड़िंग को बैठक में आने से रोका पंजाब प्रभारी हरीष चौधरी जब बठिडा देहाती के हलके के वर्करों से बैठक करने के लिए जा रहे थे तो उनके साथ राजा वड़िंग भी थे। बठिडा देहाती हलके के लिए मनप्रीत बादल द्वारा गुरजंट कुत्तीवाल की सिफारिश की जा रही थी जबकि राजा वड़िंग चाहते हैं कि टिकट हरबिदर लाडी को मिले। तो मनप्रीत ने मीटिग शुरू करने से पहले ही हरीष चौधरी को राजा वड़िंग के मीटिग में न शामिल होने की अपील की। इस पर राजा वड़िंग वहां से निकल कर हरबिदर सिंह लाडी के समर्थकों के साथ आकर बैठ गए, जबकि हरीष चौधरी ने भी वहां पहुंच कर उनके साथ बातचीत की। रूबी व कोटभाई रहे गैरहाजिर

बठिडा देहाती हलके से विधायक रुपिदर कौर रूबी व भुच्चो हलके से विधायक प्रीतम सिंह कोटभाई बैठक में गैरहाजिर रहे। हालांकि कोटभाई के समर्थक जरूर बैठक में पहुंचे हुए थे। इस मौके पर विधायक जगदेव कमालू, जिला शहरी प्रधान अरुण वधावन, जिला देहाती प्रधान खुशबाज जटाणा, यूथ विग के प्रधान लखविदर लक्की, रंजीत सिंह, मेयर रमन गोयल, डिप्टी मेयर मास्टर हरमंदर सिंह, जिला योजना बोर्ड के चेयरमैन एडवोकेट राजन गर्ग, मार्केट कमेटी के चेयरमैन मोहन लाल झुंबा, पार्षद उमेश गोगी व टहल सिंह संधू आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran