जागरण संवाददाता, बठिडा : पिछले लगभग चार वर्षों से अधर में लटकी पड़ी 1200 एमएम राइजिग मेन का निर्माण कार्य तुरंत शुरू करने का निर्देश जारी कर दिया गया है। सीवरेज बोर्ड ने इसके निर्माण के लिए त्रिवेणी कंपनी को 700 मीटर का फ्रंट उपलब्ध करवा दिया है। जबकि बाकी फ्रंट भी काम चलने के दौरान ही उपलब्ध करवा दिया जाएगा। यह जानकारी शनिवार को निगम कमिश्नर बिक्रमजीत सिंह शेरगिल की तरफ से ली गई बैठक के दौरान सीवरेज बोर्ड के अधिकारियों ने दी। बैठक में नगर निगम की विभिन्न शाखाओं के अलावा सीवरेज बोर्ड और त्रिवेणी कंपनी के अधिकारी भी मौजूद थे। कमिश्नर ने शहर में चल रहे विभिन्न विकास कार्यों की प्रगति जानने के लिए बैठक बुलाई थी। बता दें शहर के सीवरेज और बरसाती पानी की निकासी के लिए करीब 18 करोड़ रुपये की लागत से साढ़े बारह किलोमीटर लंबी राइजिग मेन का काम वर्ष 2016 में शुरू हुआ था। लेकिन अब तक मात्र 4.8 किलोमीटर का निर्माण ही हो पाया है। सवा साल बाद अब दोबारा काम शुरू होगा। 93.47 में से 79.2 किलोमीटर सीवरेज

का काम मुकम्मल बैठक में त्रिवेणी कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि कांट्रैक्ट के तहत शहर में 93.47 किलोमीटर सीवरेज की लाइनें बिछाने के कुल काम में से 79.2 किलोमीटर का काम मुकम्मल कर दिया गया है। जबकि कमिश्नर शेरगिल ने डेयरी कांप्लेक्स में बन रहे मेन पंपिग स्टेशन का काम 30 अप्रैल तक मुकम्मल करने, वाटर मीटर लगाने के काम में तेजी लाने, बरसातों से पहले शहर की सभी मोटरों और जेनरेटर्स की बढि़या चलती हालत सुनिश्चित करने, ग्रोथ सेंटर की बाउंडरी वॉल के निर्माण की एस्टीमेट रिपोर्ट तैयार करने, जनता नगर के डिस्पोजल के पंप को बदलने, पूरे शहर में डीसिल्टिग का काम मुकम्मल करने के भी कड़े निर्देश दिए। उन्होंने तमाम कार्य निर्धारित समय अवधि में पूरे करने को कहा। चालू वर्ष में 137.11 लाख के

विकास कार्य मुकम्मल निगम कमिश्नर ने यह भी बताया कि इस चालू वित्तीय साल के दौरान 137.11 लाख रुपये के विभिन्न विकास कार्य मुकम्मल किए जा चुके हैं। कुल 1286.5 लाख रुपये के विकास कार्यों के वर्क आर्डर जारी किए जा चुके हैं। जबकि 801.39 लाख रुपये के विकास कार्य इस समय प्रगति के अधीन हैं। उन्होंने शहर की सफाई का काम तनदेही के साथ करने पेंडिग पड़ी नक्शों की फाइलों के काम का भी तुरंत निपटारा करने का निर्देश दिया। बैठक में त्रिवेणी और सीवरेज बोर्ड के अलावा निगम के तमाम अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!