जासं, बठिडा : सिविल अस्पताल मौड़ मंडी में पिछले कुछ माह से इमरजेंसी सेवाएं बंद करने के विरोध में शुक्रवार को आप के मौड़ मंडी के हलका इंचार्ज सुखबीर सिंह माइसरखाना की अगुआई में पार्टी वर्करों ने सिविल सर्जन बठिडा का घेराव किया। सेहत विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान सिविल सर्जन बठिडा को मांग पत्र देकर बंद की हुई इमरजेंसी सेवाएं फिर से शुरू करने की मांग उठाई। उन्होंने कहा कि मौड़ मंडी जिले का सेंटर प्वाइंट है, जहां हाईवे पर अक्सर होने वाले हादसों के दौरान लोगों को प्राथमिक व आपातकालीन उपचार के लिए मौड़ मंडी सिविल अस्पताल में लाया जाता है। यहां लोगों को तत्काल मेडिकल सुविधा मिल रही थी, जिससे हजारों लोगों की जान को बचाने में सहायता मिल रही थी, लेकिन कोरोना वायरस के दौरान प्रशासन की तरफ से इस अस्पताल में आपातकालिन सेवाओं को बंद कर दिया गया है। इसके चलते हादसों के शिकार व इमरजेंसी सेवा लेने वाले लोगों व उनके परिजनों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं कई लोगों को समय पर उपचार नहीं मिलने के कारण मौत का ग्रास बन रहे हैं। उन्होंने जिला प्रशासन व सेहत विभाग से मांग कि उक्त अस्पताल में बिना किसी देरी के इमरजेंसी सेवाओं को शुरू किया जाएं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!