जासं, बठिडा : थाना कोटफत्ता पुलिस ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत लोगों के बैंक खाते में दो-दो हजार रुपये जमा करवाने का झांसा देकर लोगों के फार्म भरने की एवज में पैसे एकत्र करने वाले चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस मामले में गांव कोटफत्ता का एक आजाद पार्षद व एक महिला पार्षद का पति भी शामिल है। पुलिस ने शिकायत मिलने के तुरंत बाद कार्रवाई करते हुए पार्षद समेत तीन लोगों को फार्म भरते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस को शिकायत देकर कुलविदर शर्मा वासी वार्ड नंबर 15 कोटफत्ता ने बताया कि वह गांव कोटफत्ता में कॉमन सर्विस सेंटर चलाता है। उसने बताया कि गांव कोटफत्ता निवासी व पार्षद गुरदीप सिंह ने गांव के गरीब लोगों के घरों पर मुनादी करवाई कि प्रधानमंत्री की तरफ से उनके बैंक खातों में दो-दो हजार रुपये डालने के लिए फार्म भरे जा रहे हैं। इस योजना के फार्म गांव के रहने वाले गुरमेल सिंह वासी गांव कोटफत्ता के घर पर भरे जाएंगे और फार्म भरने के लिए लोग बाहर से आ रहे हैं। शिकायतकर्ता के मुताबिक जब उसने इसकी जांच पड़ताल की तो पता चला कि आरोपित करण कुमार और सतनाम सिंह वासी गांव माइसरखाना, पार्षद गुरदीप सिंह व गुरमेल सिंह की अगुआई में प्रति एक व्यक्ति से 50-50 रुपये लेकर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का झांसा देकर यह फार्म भरे जा रहे थे। यह योजना केवल किसानों के लिए है, जबकि जिन लोगों के फार्म भरे गए हैं, उन सभी के पास जमीन नहीं है और न ही गांव कोटफत्ता प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में शामिल है।

थाना कोटफत्ता के सब इंस्पेक्टर बलवंत सिंह ने बताया कि शिकायतकर्ता कुलविदर सिंह के बयान पर आरोपित लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर तुरंत कार्रवाई की गई और मौके से आरोपित पार्षद गुरदीप सिंह, करण कुमार व सतनाम सिंह वासी माइसरखाना को गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि महिला पार्षद का पति गुरमेल सिंह फरार होने में सफल रहा। उन्होंने बताया कि पकड़े गए आरोपितों को अदालत में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है, जबकि फरार चल रहे चौथे आरोपित की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!