बठिंडा, जेएनएन। लोकसभा चुनाव के दौरान नेताओं की गतिविधियों और का‍ि काफिले के संग नामांकन पत्र दाखिल कराने से लोगों को भारी परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है। बठिंडा लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी अमरिंदर सिंह राजा वडिंग के नामांकन दाखिल करने के दौरान भी लोगों खासकर व्‍यापारियों को दिक्‍कत हुई। राजा वडिंग का नामांकन कराने शहर में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पहुंचे थे। इससे लोगों  के लोगों को दिन भर परेशान होना पड़ा। इस पर व्‍यापारियों का गुस्‍सा फूट पड़ा और वे सड़कों पर उतर आए।

मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह वीरवार को यहां राजा वडिंग का नामांकन कराने शहर में धोबी बाजार की तरफ जाने वाले सभी रास्ते बंद कर दिए थे, जिसके कारण विरोध में दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद करके प्रदर्शन किया। उनका आरोप था कि पुलिस की सख्ती के कारण न तो बाजारों में कोई ग्राहक आ रहा है, न ही उनके वाहनों को पार्किंग की जगह दी जा रही है।

दुकानदारों के प्रदर्शन के दौरान मौके पर कांग्रेस नेता रजिंदर कुमार राजू भट्टू वाले व अशोक भोला भी पहुंचे और उन्होंने दुकानदारों से बात करने की कोशिश की, लेकिन दुकानदार कांग्रेस व पुलिस की धक्केशाही के खिलाफ मोर्चे पर अड़े रहे। इसके साथ ही उन्होंने विरोध में कांग्रेस को वोट न डालने का एलान कर दिया। वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल और राजा वड़िंग ने प्रदर्शनकारियों से माफी भी मांगी। उन्होंने दुकानें बंद करवाने का कारण सुरक्षा बताया। दुकानदारों ने उनकी भी एक नहीं सुनी।

रोड शो निकाला, दुकानदारों के वाहन उठाए
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राजा वडिंग का नामांकन दाखिल करवाने के बाद प्रेसवार्ता की। इसके बाद राजा वडिंग और मनप्रीत सिंह बादल ने शहर में रोड शो निकाला। इस दौरान धोबी बाजार आदि की तरफ जाने वाले सभी रास्तों को बंद कर दिया गया। न तो किसी को जाने दिया न ही दुकानदारों के वाहन लगने दिए। डीएसपी गुरजीत सिंह रोमाना ने भी बाजार में खड़े दुकानदारों के वाहन उठा लिए। इससे दुकानदार और भी गुस्सा हो गए।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!