जासं,बठिडा: उप जिला मजिस्ट्रेट परमवीर सिंह ने बुधवार को भगवान वाल्मीकि प्रकट उत्सव दिवस के मद्देनजर शराब के ठेके खोलने व मीट की बिक्री पर पूर्ण तौर पर पाबंदी लगाई है। आदेश में कहा गया है कि कुछ शरारती लोग इस पवित्र त्योहार पर शराब व मीट का इस्तेमाल करते हैं। इससे धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचती है और अमन व शांति भंग होने का खतरा रहता है। इसलिए बुधवार को शराब के ठेके व मीट की दुकानें बंद रहेंगी। शहर में गूंजे भगवान वाल्मीकि जी के जयघोष वाल्मीकि समुदाय की तरफ से महर्षि वाल्मीकि जी के प्रकटोत्सव पर शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा संतपुरा रोड जनता नगर सूरजगिरी मंदिर से आरंभ हुई, जो वाल्मीकि चौक मंदिर, गोल डिग्गी, फायर ब्रिगेड, धोबी बाजार, सदभावना चौक, सदर बाजार, सिरकी बाजार, पुराना थाना, शहीद जरनैल सिंह चौक से दाना मंडी रोड, रामबाग रोड, कपास मंडी से वाल्मीकि कम्यूनिटी हाल में समाप्त हुई। इस दौरान भगवान वाल्मीकि के जयकारों से पूरा शहर गूंज उठा।

इस शोभा यात्रा के दौरान भगवान वाल्मीकि जी के साथ-साथ लवकुश व राधा कृष्ण की झाकियां भी निकाली गई। इस दौरान काफी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। भगवान वाल्मीकि प्रकट उत्सव समिति की तरफ से करवाए गए कार्यक्रम में कांग्रेस लीडर भी शामिल हुए। इस कार्यक्रम में कांग्रेस नेताओं ने कहा कि शहर में सात करोड़ की लागत से महर्षि वाल्मीकि डिजिटल लाइब्रेरी का निर्माण किया जा रहा है। वहीं तीन करोड़ की लागत से दाना मंडी में वाल्मीकि भवन का निर्माण किया जा रहा है। इस दौरान कांग्रेस नेता जयजीत सिंह जौहल, जिला प्रधान अरुण वधावन, चेयरमैन केके अग्रवाल, नगर निगम मेयर रमन गोयल, सीनियर डिप्टी मेयर अशोक प्रधान भी शामिल थे।

Edited By: Jagran