गुरप्रेम लहरी, बठिडा : 2017 के विधान सभा चुनाव में पंजाब में अच्छा प्रदर्शन करके विरोधी पक्ष बनने वाली आम आदमी पार्टी का लोकसभा चुनाव में सफाया हो गया। भगवंत मान के बिना अन्य प्रत्याशी अपनी जमानत तक नहीं बचा पाए। इस चुनाव में प्रदेश में सबसे बड़ा झटका आप को लगा है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भगवंत मान के अलावा किसी के खाते में जीत नहीं आई। वहीं, जमानत बचा पाने में भी आप ही सबसे फिसड्डी साबित हुई है। पार्टी ने 13 प्रत्याशी मैदान में उतारे थे, जिनमें से 12 अपनी जमानत भी नहीं बचा पाए। इनमें पूर्व सांसद प्रो. साधू सिंह का नाम भी शामिल है। 13 में से 12 की जमानत जब्त

आम आदमी पार्टी की ओर से पंजाब की 13 सीटों पर ही अपने प्रत्याशी खड़े किए थे। इनमें से सिर्फ 3 प्रत्याशी 50 हजार से ऊपर वोट प्राप्त कर पाए। इसी प्रकार दो प्रत्याशी ही ऐसे हैं जो एक लाख से ऊपर वोट प्राप्त कर पाए हैं। एक लाख से ऊपर वोट प्राप्त करने वालों में बठिडा संसदीय क्षेत्र से प्रो. बलजिदर कौर व पूर्व सांसद प्रो. साधू सिंह शामिल हैं। जबकि संगरूर हलके से भगवंत मान दूसरी बार चुनाव जीतने में कामयाब रहे हैं। आप के सबसे कम वोट प्राप्त करने वाले प्रत्याशी मनजिदर सिंह सिद्धू हैं। उन्होंने खडूर साहिब से चुनाव लड़ा था और उनको सिर्फ 13656 वोट ही मिले थे। किस संसदीय क्षेत्र में आप प्रत्याशी ने कितने वोट किए प्राप्त

संसदीय क्षेत्र- प्रत्याशी- प्राप्त वोट- कुल पोल हुए वोट

बठिडा-प्रो.बलजिदर कौर- 134398-1202593

पटियाला- नीना मित्तल- 56877-1178847

गुरदासपुर- पीटर मसीह- 27744-1103228

अमृतसर- कुलदीप सिंह धालीवाल-20087-859513

खडूर साहिब- मनजिदर सिंह सिद्धू-13656-1048150

जालंधर- जसटिस रिटार्ड जोरा सिंह-25467-1018593

होशियारपुर-डॉ.रवजोत सिंह-44914-991665

आनंदपुर साहिब-नरिदर सिंह शेरगिल-53052-1082024

लुधियाना-प्रो.तेजपाल सिंह गिल-15945-1047025

फतेहगढ़ साहिब-बनदीप सिंह-62881-972963

फरीदकोट-प्रो.साधू सिंह-115319-975242

फिरोजपुर-हरजिदर सिंह काका सरां-31872-1172801

संगरूर- भगवंत मान- 413561-1107256

विधान सभा चुनाव से कम मिले वोट

विधान सभा चुनाव के मुकाबले इस बार आम आदमी पार्टी को बहुत कम वोट मिले हैं। तलवंडी साबो की विधायक प्रो.बलजिदर कौर अपने हलके में बहुत पिछड़ गई है। साल 2017 में वह 54 हजार 553 वोट लेकर विधायक बनी थी लेकर 2019 के लोक सभा चुनाव में सिर्फ 9253 वोट ही मिले। यानि कि 45 हजार के करीब वोट कम मिले। बठिडा देहाती हलकी स्थिति भी कोई ज्यादा ठीक नहीं है। यहां से रुपिदर कौर रूबी 51 हजार 552 वोट प्राप्त करके विधायक बनी थी। लेकिन इस वार बठिडा देहाती हलके से सिर्फ 6944 वोट ही प्राप्त हुए हैं। लंबी हलके में जरनैल सिंह को विधान सभा चुनाव में 21 हजार 254 वोट मिले थे जबकि लोक सभा चुनाव चुनाव में सिर्फ 4422 वोटों से ही सब्र करना पड़ा। भुच्चो मंडी विधान सभा हलके में 2017 के विधान सभा चुनाव में पार्टी के उम्मीदवार मास्टर जगसीर सिंह को 50 हजार 968 वोट मिले थे। वे महज 698 वोट के अंतर से ही पराजित हुए थे। लेकिन इस लोक सभा चुनाव में 18693 वोट ही मिले हैं। बठिडा शहरी हलके से उम्मीदवार दीपक बंसल को विधान सभा चुनाव में आप को 44 हजार 448 वोट मिले थे। लेकिन इस बार 9329 वोट ही मिले हैं। मौड़ मंडी विधान सभा हलके से जगदेव कमालू 62202 वोट लेकर विधायक बने थे।लेकिन इस चुनाव में उनको सिर्फ 16685 ही रह गई।

मानसा विधान सभा हलके में आप के उम्मीदवार नाजर सिंह मानशाहिया 70 हजार 586 वोट लेकर विधायक बने थे। लेकिन लोक सभा चुनाव में आप प्रत्याशी प्रो. बलजिदर कौर को 27 हजार 368 वोट ही प्राप्त हुए। सरदूलगढ़ हलके से विधान सभा चुनाव के समय 38102 वोट आप प्रत्याशी को मिले थे। लेकिन इस बार 16762 वोट ही मिले हैं। इसी तरह बुढलाडा हलके में साल 2017 के चुनाव के दौरान आप के मास्टर बुध राम को 52262 वोट मिले थे। लेकिन लोक सभा चुनाव में इस हलके से आप को 24 हजार 272 वोट ही मिले।

आप का पंजाब से वजूद खत्म : हरसिमरत

इस चुनाव में आम आदमी पार्टी का वजूद ही खत्म हो गया है। आम आदमी पार्टी व खैहरा ये कांग्रेस पार्टी की बी टीमें हैं। ये सब पैसे कमाने के लिए ही चुनाव में आए थे। पंजाब के लोगों ने उनको बता दिया है कि वे उनकी बातों में नहीं आने वाले।

हरसिमरत कौर बादल,सांसद,बठिडा चुनाव हारे हैं जंग नहीं : भगवंत मान

हम चुनाव हारे हैं लेकिन जंग नहीं। पंजाब को लूटने व पीटने वाली पार्टियों के खिलाफ हमारी जंग जारी रहेगी। इस बार चुनाव हार गए हैं तो क्या हुआ,हम अगली बार चुनाव जीत जाएंगे। इस बार यह दोनों रिवायती पार्टियां लोगों को गुमराह करने में कामयाब रही। भगवंत मान, सांसद, संगरूर, प्रदेश प्रधान, आप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran