संस, बठिडा : शिक्षा विभाग ने चल रहे 2022-23 सेशन के विद्यार्थियों को स्कूल की वर्दियां उपलब्ध करवाने के लिए फंड जारी कर दिया गया है। विभाग ने जिले के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले आठवीं कक्षा तक विद्यार्थियों की संख्या अनुसार 600 रुपये प्रति बच्चे के हिसाब से फंड जारी कर दिया गया है। समग्र शिक्षा अभियान के अधीन के तहत वर्दियां मुहैया करवाने को लेकर शिक्षा विभाग ने दिशा निर्देश जारी किए हैं। समग्र शिक्षा अभियान अथारिटी ने इसके लिए समूह जिला शिक्षा अधिकारियों, ब्लाक प्राइमरी एजुकेशन अफसरों और स्कूल मुखियों को पहली से आठवीं क्लास में पढ़ती सभी लड़कियों, लड़कों (एसटी, एससी और बीपीअल) को यह वर्दियां वितरित करने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि शिक्षा विभाग ने प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे 15 लाख से अधिक विद्यार्थियों को मुफ्त स्कूल वर्दियां देने के लिए 92.95 करोड़ रुपये जारी किए हैं। वहीं शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे किसी भी विशेष दुकान से यूनिफार्म खरीदने संबंधी लिखित या जुबानी आदेश न दें, बल्कि सरकार के आदेश का पालन करें। -------------

कपड़ा बचने पर मास्क बनाए जाएं

बठिडा जिले के सरकारी स्कूलों में आठवीं कक्षा तक 81395 विद्यार्थियों को वर्दी मिलेगी। इसमें स्कूलों में 47579 लड़कियां और 32 हजार 816 लड़के शामिल है। वहीं इनमें से 32 हजार 914 अनुसूचित जाति और 902 बीपीएल धारक छात्र शामिल है। वहीं शिक्षा विभाग ने आदेश जारी किए जा रहे हैं यदि यूनिफार्म की सिलाई करते हुए कपड़ा बचता है तो कोविड को ध्यान में रखते हुए वर्दी के साथ दो मास्क भी विद्यार्थी को दिए जा सकते हैं। जबकि वर्दियों की खरीद के लिए फंड जिला स्तर से सीधे स्कूल प्रबंधन समितियां (एसएमसी) के खातों में डाले गए हैं। इस पूरे कार्य में जिला शिक्षा अधिकारी दखलंदाजी नहीं कर सकते। अगर स्कूल प्रबंधक को किसी भी प्रकार की दिक्कत पेश आती है, तो जिला शिक्षा अधिकारी से बात कर सकते हैं। स्कूल मैनेजमेंट कमेटी द्वारा वर्दियों की खरीद की जाएगी। वहीं एसएमसी की ओर से यूनिफार्म समग्र शिक्षा अभियान के नियमों के तहत ही खरीदी जाएं।

-----

यह कार्य गर्मियों की छुट्टियां खत्म होने से पहले ही करना होगा

अभी कुछ दिन पहले ही आठवीं, दसवीं व बारहवीं कक्षा के एग्जाम चल रहे थे। इसलिए विभाग ने यह कार्य गर्मियों की छुट्टियों में ही करवाने के आदेश जारी किए हैं। शिक्षा विभाग के अनुसार छुट्टियों के बाद बच्चों की पढ़ाई शुरू हो जाएगी। इसलिए पहले ही यह कार्य करवानी होगी। शिक्षा विभाग ने कहा कि हर बच्चे को उसके साइज के अनुसार ही सिलाई की गई यूनिफार्म दी जाएं।

Edited By: Jagran