जासं, बठिडा : थाना कैनाल कॉलोनी पुलिस ने घोड़ा बेचने व खरीदने के मामले में नगर निगम इंस्पेक्टर से 20 लाख की ठगी होने पर एक गिरोह पर केस दर्ज किया है। यह गिरोह घोड़े बेचने व खरीदने वाले व्यापारियों के साथ ठगी करता है। इस गिरोह में शामिल लोग अब तक कई लोगों के साथ ठगी कर चुके हैं। फिलहाल आरोपितों की गिरफ्तारी होनी बाकी है।

हाउस फैड कॉलोनी निवासी रविदर सिंह चीमा ने बताया कि वह नगर निगम में बतौर इंस्पेक्टर तैनात है और उसे घोड़ियां पालने का शौक है। 2016 में उसकी मुलाकात आरोपित जगराज सिंह वासी तलवंडी अकालियां जिला मानसा, मंगल खान वासी जिला संगरूर व गुरसेवक सिंह वासी गांव माहीनंगल जिला बठिडा के साथ हुई थी। तीनों आरोपित घोड़ियां खरीदने और बेचने का काम करते हैं।

रविदर ने बताया कि चार फरवरी 2016 को तीनों आरोपित उसके फार्म हाउस पर आए और दो घोड़ियों को 23 लाख रुपये में खरीदने का सौदा तय कर लिया। यह सौदा मंगल खान ने करवाया और कहा कि वह जल्द ही पैसे देकर घोड़ियां ले जाएगा।

कुछ समय बाद आरोपित मंगल खान ने उसे (रविंद्र) कहा कि उन्हें एक पंडित ने सुझाव दिया है कि पहले आप (आरोपित) एक शामकरण नसल की घोड़ी खरीदकर अपने फार्म में रख लें और उसके बाद ही दूसरी घोड़ियां लेकर जाएंगे।

पीड़ित चीमा ने बताया कि उक्त आरोपितों ने रामा मंडी स्थित एक घोड़े के व्यापारी अमरजीत सिंह से मिलीभगत कर शामकरण नस्ल की घोड़ी अपने फार्म हाउस पर खड़ी ली और मुझे फोन कर कहा कि उनका सिरसा (हरियाणा) में किसी के साथ झगड़ा हो गया है। जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई है। इसलिए वह बठिडा नहीं आ सकते। लेकिन आप (रविंद्र) फार्म पर घोड़ी का सौदा कर लो। हम जब आएंगे तो आपसे तीनों घोड़े खरीद लेंगे। पीड़ित के मुताबिक वह आरोपितों के झांसे में आकर अपने रिश्तेदारों से पैसे उधार लेकर उक्त शामकरण नसल की घोड़ी को 20 लाख रुपये में खरीद कर ले आया। इसके बाद आरोपित न तो घोड़े लेकर गए और नहीं उसके पैसे वापस किए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!