संवाद सहयोगी, बरनाला

डीसी आफिस के समूह मिनिस्ट्रियल मुलाजिम अपनी मांगों को लेकर कलमछोड़ पर हड़ताल पर चले गए हैं। मिनिस्ट्रियल मुलाजिमों की कलमछोड़ हड़ताल के कारण जिले भर से अपना कार्य करवाने के लिए जिला प्रबंधकीय परिसर में पहुंचने वाले लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है।

हड़ताल के कारण असला लाइसेंस, शादी, जाति सर्टिफिकेट, रेजीडेंस सर्टिफिकेट, निशानदेही, इंतकाल, कैदियों की छुट्टियों संबंधी फाइलों का कार्य नहीं हो सका। मुलाजिम यूनियन के एग्जेक्टिव सदस्य चंचल कौशल, दिलप्रीत सिंह, नरिदर सिंह ने कहा कि मांगों के लिए उनकी सरकार के नुमाइंदों से छह अगस्त व आठ सितंबर को चंडीगढ़ में बैठक हुई थी कितु उन्हें सिवाए आश्वासन के कुछ नहीं मिला। मांगों को लेकर आज कर्मचारी सामूहिक छुट्टी लेकर मोहाली में राज्य स्तरीय रैली करेंगे। विधानसभा चुनावों में चुनावों से जुड़े कार्यों का भी बायकाट किया जाएगा। उन्होंने चेतावनी देते कहा कि यदि रिक्त पदों पर जल्द भर्ती न की गई तो संघर्ष को और तेज किया जाएगा। उन्होंने रिक्त पदों पर तुरंत भर्ती करने, कर्मचारी विरोधी कानून वापस लेने, सीनियर सहायक से नायब तहसीलदार पदोन्नति कोटा 50 फीसद करने, नियमों अनुसार तरक्की करने, छठे वेतन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करने, डीए का बकाया तुरंत जारी करने आदि मांगें पूरी करने की मांग की। ------------------

डीसी दफ्तर मुलाजिमों की कलम छोड़ हड़ताल रही जारी

जागरण संवाददाता, संगरूर

दी पंजाब स्टेट डिस्ट्रिक्ट डीसी आफिस इंप्लाइज यूनियन की अगुआई में जिले में जिला संगरूर व मालेरकोटला के 300 से अधिक कर्मचारियों की कलमछोड़ हड़ताल लगातार जारी रही। शुक्रवार को वह सामूहिक छुट्टी लेकर माहोली में राज्य स्तरीय रैली करेंगे। ऐसे में दोनों जिलों के कामकाज सोमवार तक लटक गया। वीरवार को दूसरे दिन मूसलाधार बारिश के बीच डीसी कार्यालय में पहुंचे लोगों को काम न होने की वजह से परेशानी उठानी पड़ी। यूनियन का दावा है कि संगरूर के छह उपमंडल कार्यालय, छह तहसील और चार सब तहसीलों में काम ठप रहा।

Edited By: Jagran