उधर, बरनाला कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल डीजल की कीमतों में की जा रही बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस के जिला प्रधान मक्खन शर्मा के नेतृत्व में कांग्रेसी वर्करों ने सुबह 10 बजे से लेकर तीन जे तक पांच घंटे के लिए शहर के तीन प्रमुख बाजारों को बंद करवाया व पांच घंटे तक बाजारा मिले जुले ही बंद रहे। कांग्रेस के जिला प्रधान मक्खन शर्मा व अन्य कांग्रेसी वर्करों ने शहर के मेन शहीद भगत ¨सह चौक से एकत्र होकर पैदल मार्च करते हुए केन्द्र सरकार के खिलाफ कड़ा रोष प्रदर्शन करते हुए बाजारों में खुली हुई दुकानों को बंद करवाया। सुबह 10 बजे से 3 बजे तक शहर का सदर बाजार, फरवाही बाजार, हंडिआया बाजार की दुकानें बंद रही, तो वहीं अन्य बाजारों पक्का कालेज रोड, कच्चा कालेज रोड, बस स्टैंड रोड में बंद को लेकर मिला जुला असर दिखाई दिया। इस अवसर पर यूथ कांग्रेस के जिला प्रधान ¨डपल उप्पली, शहरी प्रधान मनीश काका, हर¨वदर चाहल, व¨रदर हैप्पी ठेकेदार, मंगत राय मंगा, उप प्रधान वरुण बत्ता, लोकसभा हलका संगरूर यूथ कांग्रेस के उपाध्यक्ष रछपाल कैरे, कांग्रेस महिला ¨वग की जिला प्रधान सुखजीत कौर सुखी, नरेंद्र चोपड़ा, हरदेव ¨सह बाजवा, कैप्टन भूपेंद्र ¨सह, बलदेव भुच्चर, विनोद चौबर व अन्य उपस्थित थे आदि उपस्थित थे।

गुटबाजी को लेकर तपा रहा खुला

इसी प्रकार हलका भदौड़, महलकलां, सब डिवीजन तपा, धनौला में भी बंद को लेकर मिला जुला असर दिखाई दिया, कहीं बाजार बंद तो कहीं खुले रहे। तपा में सुबह 8 बजे ही बाजार प्रतिदिन की तरह खुलने शुरू हो गए। भारत बंद को लेकर कोई कांग्रेसी नेता या वर्कर बंद के समर्थन में नहीं आया। इस अवसर पर कांग्रेस हलका भदौड़ के इंचार्ज जो¨गदर ¨सह पंजगराईया ने कहा कि उनके द्वारा बंद को लेकर सभी को मैसेज लगाया गया था, परंतु किसी भी वर्कर व दुकानदार द्वारा उनका सहयोग नही दिया। वहीं पूर्व शहरी प्रधान न¨रदर ¨नदी ने कहा कि कांग्रेसी के शहरी प्रधान व हलका इंचार्ज द्वारा कोई भी बैठक नही की व ना ही किसी को मैसेज लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस दो गुटों में बट चुकी है व पंजाब कमेटी के आदेश को नही मानकर उल्लघंन कर रहे है।

Posted By: Jagran