जागरण संवाददाता, बरनाला

32 संगठनों पर आधारित संयुक्त किसान मोर्च द्वारा तीन कृषि कानूनों को रद करवाने व एमएसपी की गारंटी देने का नया कानून बनाने की मांग को लेकर रेलवे स्टेशन नजदीक शुरु किया पक्का मोर्चा सोमवार को 306वें दिन भी जारी रहा।

सोमवार को वक्ताओं ने देश के उच्च कोटी चितकों, पूर्व सिविल अधिकारियों, अ‌र्द्ध-शास्त्रियों व जजों द्वारा किसान संसद में शमूलियत की प्रशंसा की। पंजाब से भी पूर्व सिविल अधिकारियों का एक बड़ा जत्था किसान संसद में हिस्सा लेने के लिए आगामी दिनों में दिल्ली रवाना होगा। किसान संसद में हो रही बहस ने खेती कानूनों का लोक विरोधी चेहरा नंगा किया है।

बलवंत सिंह उप्पली, गुरनाम सिंह ठीकरीवाला, नछतर सिंह साहौर, नारायण दत्त, मेला सिंह कट्टू, प्रेमपाल कौर, परमजीत कौर, बलवीर कौर, बलजीत सिंह चौहानके, रणधीर सिंह, गोरा सिंह, बाबू सिंह खुड्डी कलां ने कहा कि देश के विभिन्न राज्यों से किसान दिल्ली धरनों में पहुंच रहे हैं। विगत दिनों कर्नाटक से एक बड़ा जत्था दिल्ली पहुंचा। शेर सिंह दुग्गां व अजमेर सिंह अकलिया ने इंकलाबी गीत पेश किए।

Edited By: Jagran