संवाद सहयोगी, बरनाला

सिविल अस्पताल बरनाला के सामने स्थित दो दवा विक्रेताओं की आपसी रंजिश का खामियाजा दुकान पर काम करने वाले नौकर को भुगतना पड़ रहा है। पीड़ित नौकर के स्वजनों ने एसएसपी से इंसाफ की गुहार लगाई है।

जानकारी के अनुसार 27 अक्टूबर को एक दवा विक्रेता ने एसएसपी बरनाला अलका मीणा आइपीएस को लिखित शिकायत दी। आरोप लगाया किउसकी दुकान से करीब बीस लाख रुपये की दवाइयों की चोरी हुई है। यह चोरी पड़ोसी दुकानदार पर कार्यरत नौकर ने की है। थाना सिटी वन बरनाला के एक पुलिस अधिकारी ने नामजद नौकर से थाना में मारपीट की व उससे उगलवाया कि वह अपने मालिक के साथ मिलकर चोरी करता था। मामले को लेकर दोनों पक्षों में पांच लाख रुपये में लिखती पंचायती राजीनामा हो गया। इसके बाद पुलिस ने नौकर को छोड़ दिया।

मामले को लेकर पीड़ित नौकर के स्वजनों ने पत्रकारों से बातचीत करते बताया है कि उनका बेटा बेकसूर है। उसे जान-बूझकर मामले में फंसाया गया। पुलिस की पिटाई से बेटे की हालत नाजुक बनी हुई है। उन्होंने एसएसपी बरनाला से मांग की है कि मामले की निष्पक्ष जांच की जाए। दुकान पर लगे सीसीटीवी की फुटेज खंगाली जाए।

---------------------- पुलिस ने केस की जांच गहराई से शुरू कर दी है। इसमें शामिल सभी लोगों से पूछताछ की जाएगी। कोई भी आरोपित बख्शा नहीं जाएगा। बेशक वह पुलिस कर्मचारी ही क्यों न हो। -अलका मीणा, एसएसपी बरनाला

Edited By: Jagran