संवाद सहयोगी, बरनाला : जिला परिषद व पंचायत समिति चुनावों को लेकर जिला चुनाव अफसर द्वारा 10 सितंबर को नामांकनों की जांच में शैहणा के तीन उम्मीदवारों के जरूरी कागजों की कमी के कारण रद कर दिया गया था। पंचायत समिति शैहणा के जोन भोतना से मतदाता सूची में गड़बड़ी पाए जाने के कारण भाजपा में रोष पाया जा रहा है।

गौरतलब हो कि पंचायत समिति शैहणा जहां चुनाव प्रक्रिया की शुरुआत से ही वाद-विवाद में उलझा नजर आ रहा है, वहीं अब एक नए मामले में उलझन नजर आ रही है। बता दें कि नामांकन भरने के बाद जिला चुनाव विभाग द्वारा एक सूची तैयार की गई थी, जिसमें पंचायत समिति शैहणा के जोन भोतना से केवल भाजपा के एक प्रत्याशी पर¨मदर ¨सह द्वारा चुनाव के लिए नामांकन भरने का डाटा दिया गया था व चुनाव विभाग द्वारा भी इसी नाम से भोतना जोन से सूची जारी की गई थी। पंचायत समिति शैहणा में उस समय नया मोड़ आ गया, जब 11 सितंबर को नामांकन वापिस लेने के बाद जिला चुनाव विभाग द्वारा बनाई गई सूची में भोतना जोन में सुखमंदर ¨सह जो जोन चीमा से जरनल सीट पर चुनाव लड़ रहा था, को भोतना जोन से अनुसूचित जाति की सीट में शामिल कर दिया गया। इस सूची व मामले में सबसे हैरानीजनक तथ्य यह देखने को मिला कि जब कांग्रेसी प्रत्याशी सुखमंदर ¨सह जो चीमा जोन से जरनल सीट पर चुनाव के लिए खड़ा था तो वह रातों रात भोतना जोन में जरनल से अनुसूचित जाति की सीट पर कैसे खड़ा हो गया। इस मामले में जिला चुनाव अफसर व रिटर्निग अफसर पर सवालिया प्रश्न खड़ा हो रहा है। तो वहीं भाजपा के कार्यकर्ताओं व प्रत्याशियों में रोष है।

भाजपा के जिला इंचार्ज जितेंद्र कुमार कालड़ा ने कहा कि उनके द्वारा जिला प्रधान गुरमीत ¨सह को इस मामले की जांच के लिए कहा है व उनके द्वारा इस मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस सूची में अगर कोई भी गड़बड़ी पाई गई तो उनके द्वारा पहले इलेक्शन कमिशन को शिकायत की जाएगी व जरूरत पड़ने पर कोर्ट का रास्ता अपनाया जाएगा। एडीसी विकास प्रवीन कुमार ने कहा कि उनके पास इस तरह की कोई भी सूची नही है व जो सूची है, उसमें सही है।

Posted By: Jagran