बरनाला, जेएनएन। कृषि सुधार कानून को लेकर किसान संघेड़ा, महलकलां, भदलबढ़, भोतना, धनौला, धौला में पेट्रोल पंप व भाजपा नेताओं के निवास समक्ष अनिश्चित काल के लिए धरने प्रदर्शन शुरू किए हैं। सोमवार को किसान संगठनों के सदस्यों ने कहा कि केंद्र सरकार ने कृषि कानून पारित करके किसानों की मौत का वारंट जारी किया है। केंद्र सरकार इस वारंट को जारी करके किसानों को गुलामी की मौत मरने देना चाहती है।

जिसके चलते ही केंद्र सरकार ने किसानों को गुलाम बनाने व उनको खत्म करने के लिए कृषि कानून पारित किए हैं। उन्होंने कहा कि जब तक केंद्र सरकार द्वारा कृषि कानून को रद्द नहीं किया जाता तब तक धरने प्रदर्शन ऐसे ही जारी रहेंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!