संवाद सूत्र धनौला, बरनाला :

सीपीआइएम धनौला की इकाईयां द्वारा कुल हिंद खेत मजदूर यूनियन पंजाब के जनरल सेक्रेटरी कामरेड लाल सिंह धनौला के नेतृत्व में बस अड्डा धनौला में मोदी सरकार का पुतला जला कर रोष प्रदर्शन किया। कामरेड लाल सिंह ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा नये नये जनता विरोधी फैसले करके कोरोना महामारी का फायदा उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तेल व डीजल की कीमतें बढ़ाई जा रही है, जबकि कच्चे तेल की कीमतों सब से निचले स्तर पर थी, तो भारत में अधिक कीमतों तेल की क्यों हैं। उन्होंने बताया कि पहले तेल की कीमतें 115-120 डालर प्रति बैरल थी, पेट्रोल की कीमतों 85 से 88 रुपए प्रति लीटर थी, जबकि अब कच्चा तेल 15 डालर प्रति बैरल है, पेट्रोल भारत में 85 रुपये प्रति लीटर, जबकि डीजल से भी अधिक कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि सरकार कॉर्पोरेट घराने को फायदा पहुंचाने के लिए खेती तीन बिल पास कर चुकी है। इस तरह बिजली बिल 2020 के पास करवा कर सारा बिजली सिस्टम कॉर्पोरेट घरानों को देने जा रही है। मोदी सरकार ने मजदूर विरोधी कानून बना रहे हैं, मजदूरों के काम घंटे 8 से बढ़ा कर 12घंटे करने की तरफ आगे बढ़ रही है। उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जनता विरोधी फैसले वापिस नहीं लिए गए, तो देश स्तर पर सीपीआईएम द्वारा संघर्ष को तीव्र किया जाएगा। इस अवसर पर जरनैल सिंह दानगढ़, जग्गा सिंह धनौला, बावा सिंह, बाबू खान, दर्शन सिंह भूरे, नंबरदार दर्शन सिंह हरीगढ़, सौदागर सिंह उप्पली, सुखदेव सिंह, बचित्तर सिंह, मलकीत सिंह कोटदुन्ना, जीता सिंह, गुरतेज सिंह, गुरजीत सिंह आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!