सोनू उप्पल, बरनाला : केंद्र सरकार द्वारा मिशन स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत व खुले में शौच मुक्त सहित राज्य सरकार द्वारा मिशन तंदुरुस्त पंजाब के तहत लोगों को स्वच्छता का पाठ पढ़ा जागरूक कर रहा है, लेकिन लोगों को स्वच्छता का पाठ पढ़ाने वाला जिला प्रशासन खुद के आसपास से बेसमेंट में गंदगी फैलाए बैठा नजर आ रहा है व लोगों को खुले में शौच करने को मजबूर कर रहा है। गौर हो कि जिला प्रबंधकीय परिसर में प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग अपने कामकाज के लिए आते हैं।

इस परिसर में डीसी दफ्तर, एसडीएम दफ्तर, तहसीलदार दफ्तर, सेवा केंद्र सहित अन्य दफ्तरों के कारण हजारों लोग अपना कामकाज करवाने पहुंचते है, लेकिन ऐसे में साफ सफाई से लेकर शौचालय के घटिया प्रबंध व फैली गंदगी जिला प्रशासन द्वारा चलाए गए स्वच्छता अभियान को ठेंगा दिखा मुंह चिड़ा रही हैं। जिला प्रबंधकीय परिसर में फैली गंदगी से वह कहावत दिया तले अंधेरा याद आ जाती है। लोगों को जहां परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं बीमारियां फैलने का भी भय बना हुआ है। बता दें कि जिला प्रबंधकीय परिसर में एसडीएम दफ्तर वाली बिल्डिग में बने शौचालय पूरी तरह से टूट चुके हैं। हालत इस कदर बद से बदतर बन चुकी हैं कि टूटे शौचालय में सीवरेज का पानी भरा पड़ा है। जहां शौचालय के अंदर से लेकर बाहर तक तंबाकू के कागज व बेसमेंट से लेकर अन्य जगह शराब की खाली बोतलें व उनका डिब्बा पड़ा नजर आना जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन पर सवाल खड़ा कर इलेक्शन कमिशन के नियमों को धरा बता रहा है।

डीसी तेज प्रताप सिंह फूलका ने कहा कि उनके द्वारा जांच करवाई जाएगी व फैली गंदगी के लिए परिसर के सफाई सेवकों को आदेश जारी किए जाएंगे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!