संवाद सूत्र, बरनाला : सरकार ने खसखस की खेती पर टेलीफिल्म बनाने वाले युवक किसान भगवान सिंह भाना व पराली जलाने वाले किसानों पर किए केस रद नहीं किए, तो यूनियन यातायात जाम कर डीसी को ज्ञापन सौंपेगी। यह बात भारतीय किसान यूनियन के प्रेदश प्रधान अजमेर सिंह लक्खोवाल ने सूबा महासचिव हरिदर सिंह लक्खोवाल व जिला प्रधान जगसीर सिंह छीनीवाल ने कही। वे भाकियू लक्खोवाल व खसखस की खेती के लिए हमखियाली संगठनों के नेतृत्व में डीसी दफ्तर के समक्ष लगाए धरने को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार ने युवक किसान भगवान सिंह भाना पर एनडीपीसी एक्ट

के तहत केस दर्ज कर पंजाब के खसखस की खेती करने के लिए मांग कर रहे किसानों की आवाज को दबाने की कोशिश की है, जिसे बर्दाशत नहीं किया जाएगा। अगर यह केस रद नहीं किया गया, तो यूनियन अनिश्चितकालीन धरना शुरू करेगी। अजमेर सिंह लक्खोवाल ने प्रदेश सरकार द्वारा पराली जलाने वाले किसानों के खिलाफ दर्ज किए केसों की निदा की। इस अवसर पर महिदर सिंह बडै़च, रामकरन सिंह, गुरविदर सिंह, जगजीत सिंह, डॉ. रणजीत सिंह, गुरध्यान सिंह सहजड़ा, भूपिदर सिंह, महिदर सिंह, हरभजन सिंह, सुरिदर सिंह, दरबारा सिंह, प्रीतम सिंह, लखविदर सिंह, जसवीर सिंह, सर्बजीत सिंह, अवतार सिंह आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!