जागरण संवाददाता, बरनाला

जिले के ब्लाक महल कलां के गांव पंडोरी के किसान नवदीप सिंह की अगुआई में गांव के बच्चों ने किसानों को पराली के वातावरण पक्षीय निपटारे के लिए जागरूक करने का बीड़ा उठाया है। यह टीम जहां ंइंटरनेट मीडिया द्वारा वातावरण संभाल का संदेश दे रही है वहीं खेतीबाड़ी विभाग के कैंपों में भी अपनी बात किसानों के समक्ष रख रही है।

वीरवार को जिला प्रशासन ने स्थानीय बाजाखाना रोड में जिला स्तरीय किसान सिखलाई कैंप के दौरान टीम के प्रयत्नों की प्रशंसा की व सम्मानित किया। कैंप के दौरान पराली न जलाने वाले 18 अन्य किसानों को सम्मानित किया गया।

टीम की अगुआई कर रहे किसान नवदीप सिंह ने बताया कि उन्होंने वातावरण को बचाने के लिए जहां खुद दो वर्षों तक फसल के अवशेष को आग नहीं लगाई, वहीं अब जागरूकता मुहिम को घर-घर ले जाने का बीड़ा उठाया है। उसकी सोच थी कि गांव के बच्चे भी सामाजिक बुराईयों के खिलाफ फर्ज निभाएं। इसलिए उसके द्वारा एनआरआई•ा के सहयोग से भाई घनईया जी सेवादार ग्रुप बनाया गया व करीब 25 बच्चों को अपने साथ जोड़ा। जो स्कूल से छुट्टी वाले दिन कविताएं व अन्य पेशकारियों से सोशल मीडिया पर वातावरण पक्षीय संदेश तैयार करते हैं। अब जिला प्रशासन व खेतीबाड़ी-किसान भलाई विभाग की प्रेरणा से उन्होंने पराली न जलाने का संदेश घर-घर पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। टीम में शामिल कमलहीर सिंह, मनजोत सिंह, दिलप्रीत सिंह ,हरमनप्रीत सिंह, हरविदर सिंह, जसकरण सिंह, करणप्रीत सिंह, खुशप्रीत सिंह ने कविता से वातावरण पक्षीय संदेश दिया।

एडीसी अमित बैंबी ने बताया कि बच्चों द्वारा पराली न जलाने का संदेश देती वीडियो की हर तरफ प्रशंसा हो रही है व जिला प्रशासन द्वारा इस टीम को सम्मानित किया गया है। संयुक्त डायरेक्टर पंजाब मनमोहन कालिया ने किसानों को खेती मशीनरी की सब्सिडी व खेती मशीनरी की संभाल की जानकारी दी।

Edited By: Jagran