जागरण संवाददाता, बरनाला :

आंगनबाड़ी मुलाजिम यूनियन पंजाब (सीटू) के नेता व वर्करों ने डीसी कार्यालय के समक्ष नारेबाजी कर रोष प्रदर्शन किया। आंगनवाड़ी मुलाजिम यूनियन पंजाब (सीटू) के जिला प्रधान बलराज कौर व कमलजीत कौर सेखा ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि 3 से 6 वर्ष के बच्चों का दाखिला, आंगनवाड़ी सेंटरों में यकीनी बनाना, आंगनबाड़ी वर्करों के मान भत्तों में विस्तार, पेंशन व ग्रेच्युटी की गारंटी, आंगनवाड़ी केंद्रों में पीने के साफ पानी, शौचालय व बिजली का प्रबंध किया जाएं। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की मंत्री रजिया सुल्ताना द्वारा 8 नवंबर को यूनियन नेताओं के साथ बैठक करके जो फैसले लिए गए थे, वह अभी तक जारी नहीं किए गए हैं। जिस कारण आंगनवाड़ी मुलाजिमों में काफी रोष है। उन्होंने कहा कि इस रोष को ओर तीव्र करते हुए जेल भरो आंदोलन संबंधी शपथ पत्र भर कर डीसी बरनाला पत्र लिख कर पहले सूचित किया व निवेदन पत्र भी सौंपे गए।

उन्होंने 14 नवंबर को मुख्यमंत्री द्वारा यूनियन के साथ रखी बैठक यदि रद्द की, तो वह 15 नवंबर से जेल भर दी जाएंगी। इस अवसर पर बलजीत कौर सेखा, करमजीत कौर महल कलां, करमजीत कौर नैणेवाल, रूही बांसल, राजेश महल कलां, नसीब कौर नैणेवाल, बलदेव कौर ठुल्लीवाल, गुरमीत धौला आदि नेताओं ने भी रोष धरने को संबोधन किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में आंगनवाड़ी वर्कर व हेल्पर उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!