जागरण संवाददाता, अमृतसर : विजिलेंस विभाग की टीम ने वीरवार को सरकारी मेडिकल कॉलेज में दस्तक दी। टीम ने प्रिसिपल के कार्यालय में पुराना रिकॉर्ड खंगाला। विजिलेंस किस मामले की जांच के लिए आई थी, यह स्पष्ट नहीं है लेकिन मेडिकल कॉलेज में भ्रष्टाचार के आधा दर्जन से ज्यादा मामले उजागर हुए हैं। मेडिकल कॉलेज से संबंधित गुरुनानक देव अस्पताल में वर्ष 2011 को डायलिसिस किटों की खरीद में भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे। उस दौरान सामाजिक कार्यकर्ता रविदर सुल्तानविड ने किट खरीद में करोड़ों की गड़बड़ होने का आरोप लगाया था। तब विजिलेंस की टीम ने कुछ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर किया था, लेकिन कोई गिरफ्तारी नहीं हुई थी। विजिलेंस की टीम ने स्थानीय स्तर पर इस मामले में कार्रवाई कर रिपोर्ट देने के आदेश जारी किए हैं। टीम ने कॉलेज से सारा रिकॉर्ड मांग लिया है कि इन किटों को कहां से खरीदा गया था? किट्स खरीद के लिए कहां-कहां से कोटेशन मंगवाई गई थी? खरीदी गई किटों का प्रयोग कब किया गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!