जागरण संवाददाता, अमृतसर : जौड़ा फाटक रेल हादसे में अपनों को गंवा चुके परिवारों का धरना मंगलवार को आठवें दिन में प्रवेश कर गया। हाड़ कंपाती ठंड में भंडारी पुल पर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे पीड़ित परिवारों का आक्रोश सरकार के प्रति लगातार बढ़ रहा है। इसके बावजूद कोई भी प्रशासनिक अधिकारी उन्हें दिलासा देने नहीं आ रहा।

7.2 डिग्री सेल्सियस तापमान में दिन रात धरने पर बैठे इन परिवारों में बूढ़े, बच्चे, जवान और महिलाएं भी शामिल हैं। पीड़ित परिवार के सदस्य दीपक कुमार ने कहा कि हम सरकारी नौकरी की मांग कर रहे हैं। साथ ही हादसे के कसूरवारों को सलाखें के पीछे देखना चाहते हैं। यदि सरकार मांग पूरी नहीं करती, तो वे भी धरने से नहीं उठेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!