मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जेएनएन, अमृतसर। Operation Blue Star की बरसी (6 जून) से तीन दिन पहले अमृतसर देहाती पुलिस ने आतंकी हमले की बड़ी साजिश नाकाम कर दी। खुफिया एजेंसियों के अलर्ट पर पुलिस ने रविवार तड़के 4.30 बजे दो आतंकियों से दो हैंड ग्रेनेड बरामद किए। हालांकि, बाइक सवार दोनों आतंकी राजासांसी के हर्षाछीना बस अड्डे के पास पुलिस को गच्चा देकर फरार हो गए। पुलिस ने यहां नाका लगा रखा था। इस दौरान पुलिस ने एक बाइक पर सवार दो पटकाधारी नकाबपोश सिख युवकों को रुकने का इशारा किया।

बाइक के पीछे बैठे सवार ने अपने कंधे पर बैग टांग रखा था। पुलिस को देखते ही उन्होंने बाइक भगा ली। हेड कांस्टेबल तेङ्क्षजदर सिंह और कांस्टेबल हरप्रताप सिंह ने पीछा कर बाइक के पीछे बैठ युवक को कंधे से पकड़ लिया, लेकिन वह किसी तरह खुद को छुड़ाने में कामयाब रहा। युवक के कंधे से टंगा बैग जमीन पर गिर गया। पुलिस ने बैग खोलकर देखा, तो उसमें एक लिफाफे से दो हैंड ग्रेनेड बरामद हुए। एक पर बी/03 और दूसरी तरफ इंग्लिश में जेड लिखा है। दूसरे ग्रेनेड पर 02/01,2001 व दूसरी तरफ इंग्लिश में जेड लिखा है। उन पर लिवर व पिन लगे हैं।

इसी बैग से पुलिस को एक मोबाइल भी बरामद हुआ है, जिसकी कॉल डिटेल खंगाली जा रही है। बॉर्डर जोन के आइजी सुरिंदरपाल परमार व एसएसपी देहाती विक्रमजीत दुग्गल ने दावा किया कि पुलिस फरार आतंकियों को जल्द गिरफ्तार कर लेगी। जिस बैग से ग्रेनेड मिला है उस पर फिरोजपुर के अशोका टेलकम वाले का नंबर लिखा है, जो बंद आ रहा है। पुलिस उससे भी पूछताछ करेगी। गौरतलब है कि पिछले वर्ष 18 नवंबर को राजासांसी स्थित एक निरंकारी सत्संग भवन पर ग्रेनेड से आतंकी हमला हुआ था, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई थी।

बीकेआइ के हो सकते हैं आतंकी

बब्बर खालसा इंटरनेशनल (बीकेआइ) के दो आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद अमृतसर देहाती पुलिस को सूचना मिली थी कि Operation Blue Star की बरसी को लेकर कुछ आतंकी संगठन शहर में में बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं। 

कार्यकारी डीजीपी ने की विशेष बैठक

कार्यकारी डीजीपी बीके भावरा ने अमृतसर पहुंचकर आइजी बॉर्डर जोन सुरिंदर परमार के कार्यालय में अमृतसर कमिश्नरेट व अमृतसर देहाती पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की। गे्रनेड की भी जांच की गई। इस दौरान Operation Blue Star की बरसी से संबंधित विशेष दिशा निर्देश दिए गए।

Operation Blue Star की बरसी पर सीसीटीवी की निगरानी में रहेंगे धार्मिक स्थल

Operation Blue Star की बरसी पर किसी भी तरह की अनहोनी से निपटने के लिए जिले के तमाम संवेदनशील धार्मिक स्थल सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में रहेंगे। रविवार को अमृतसर पहुंचे कार्यकारी डीजीपी वीके भावरा ने कहा कि संवेदनशील धार्मिक स्थलों के आसपास सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे, ताकि वहां होने वाली प्रत्येक गतिविधि पर नजर रखी जा सके। अगर किसी तरह की अप्रिय घटना होती है तो इससे घटना को अंजाम देने वालों की पहचान कर उन्हें राउंडअप कर लिया जाएगा।

वहीं पुलिस लाइन में आयोजित एक बैठक में कार्यकारी डीजीपी वीके भावरा और एडीजीपी इश्वर सिंह ने पुलिस अफसरों को आदेश दिया कि शहर में गड़बड़ी फैलाने वाले किसी भी व्यक्ति को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त न करें। शहर में पेट्रोलिंग पार्टियों को अलर्ट रहने के साथ ही थाना प्रभारियों व चौकी इंचार्जों को आदेश दिया है कि वह कड़ी नजर बनवाए रखें। इस दौरान बार्डर जोन के आइजी सुरिंदरपाल  परमार, पुलिस कमिश्नर सुधांशु शेखर श्रीवास्तव, डीसीपी जगमोहन सिंह, डीसीपी मुखविंदर सिंह, डीसीपी भूपिंदर सिंह, एसएसपी देहाती विक्रमजीत दुग्गल, एडीसीपी जगजीत सिंह वालिया, एडीसीपी संदीप कुमार मलिक, एडीसीपी लखबीर सिंह के अलावा कई पुलिस अधिकारी मौजूद थे। 

अद्र्ध सैनिक बल की तैनात रहेंगी चार कंपनियां 

डीजीपी ने बताया कि Operation Blue Star की बरसी छह जून को कुछ संगठन शहर को बंद रखने की बात कर रहे हैं। कुछ शरारती तत्व महानगर का माहौल खराब करने का प्रयास करते हैं। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पुलिस बल को शहर में तैनात किया है। इसके साथ ही अद्र्ध सैनिक बल की चार कंपनियां भी शहर में तैनात रहेंगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!