जेएनएन, अमृतसर। जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद पाकिस्तान बौखलाहट में लगातार गलत फैसले ले रहा है। पहले समझौता एक्सप्रेस, दोनों देशों के बीच चलने वाली बसों और कारोबार को बंद करने का भारत पर कोई असर नहीं पड़ेगा। अमृतसर के कारोबारियों का कहना है कि अपने इस कदम के कारण पाकिस्तान टूटकर बिखर जाएगा। वर्तमान में पाकिस्तान की वित्तीय हालत खस्ता है और भारत से एक्सपोर्ट होने वाले सस्ते सामान से ही उसकी जिंदगी चल रही थी। पाकिस्तान सरकार के फैसले के बाद तो वहां की अवाम की हालत और खराब हो जाएगी।

पाक को ही होता था भारत से व्यापार का फायदा

इंडो फॉरेन चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रधान बीके बजाज ने बताया कि अमृतसर से करियाणे की कुछ आइटमों के अलावा लाइट मशीनरी पाकिस्तान एक्सपोर्ट होती थी। भारत से इन चीजों को लेने में पाकिस्तान को फायदा ही था। उन्होंने कहा कि अब पाकिस्तान भेजे जाने वाले सामान की खपाई कहां होगी तो हमारी इकानमी इतनी बड़ी है कि यह सामान आसानी से जज्ब हो जाएगा। कारोबारियों के लिए भी देश की सुरक्षा पहले और व्यापार बाद में।

इमरान खान ने बड़ी गलती की

आल इंडिया ड्राइडेट एसोसिएशन के राष्ट्रीय प्रधान अनिल मेहरा ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच 139 पदार्थों के इंपोर्ट-एक्सपोर्ट का समझौता हुआ था। भारत ने पाक को मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा दिया, मगर पाकिस्तान ने भारत के साथ ऐसा नहीं किया। इस कारण भारत से मोटी इलायटी, सत इस्बगोल, लाख दाना, धारा, प्लास्टिक दाना, ताजी सब्जियां, टमाटर व टायर ट्यूब का एक्सपोर्ट हो रहा था। ताजी सब्जियां और टमाटर को पाकिस्तान ने करीब 4 साल पहले लेना बंद कर दिया था। मेहरा ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बड़ी गलती की है। इसका खामियाजा पाकिस्तान के हर व्यक्ति को भुगतना पड़ेगा।

पाकिस्तान का सीमेंट उद्योग चौपट हो जाएगा

सीमेंट कारोबारी विक्रांत अरोड़ा ने कहा कि पाकिस्तान में पैदा चीजों के लिए भारत सबसे बड़ी मंडी रहा है। पाक को या तो अपना औद्योगिक उत्पादन कम करना होगा या फिर इसके लिए नई मार्केट देखनी पड़ेगी। कारोबार बंद होने से उसके उद्योग चौपट हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के सीमेंट की 65 फीसद से ज्यादा खपत भारत में होती थी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kamlesh Bhatt