जागरण संवाददाता, अमृतसर

आयुष्मान भारत सरबत सेहत बीमा योजना का सोमवार को विधिवत शुभारंभ हो गया। मोहाली में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह से वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए सभी जिलों के अधिकारियों ने कनेक्ट होकर इस योजना का महिमामंडन किया। अमृतसर स्थित गुरु नानक देव अस्पताल के ऑडिटोरियम में जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने मोहाली में आयोजित कार्यक्रम का सीधा प्रसारण वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए देखा।

कार्यक्रम में शामिल हुए डिप्टी कमिश्नर शिवदुलार सिंह ने कहा कि इस योजना का मुख्य मकसद राज्य के आर्थिक दृष्टि से कमजोर लोगों को आधुनिक चिकित्सा सुविधाएं निशुल्क उपलब्ध करवाना है। अमृतसर में तीन लाख से ज्यादा लोगों को इस योजना से जोड़ा गया है। इन लोगों को पांच लाख रुपये तक का सालाना कैशलेस स्वास्थ्य बीमा की सुविधा दी जाएगी। लाभार्थियों को निजी एवं सरकारी अस्पतालों में कैशलेस उपचार मिलेगा।

ढिल्लों ने कहा कि इस योजना में मल्टी स्पेशलिस्ट अस्पतालों में होने वाले ऑपरेशन के विशेष पैकेज भी शामिल हैं। पारिवारिक सदस्यों की संख्या एवं उम्र की इसमें कोई सीमा नहीं है। आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों का डाटा सामाजिक, आर्थिक तथा जाति जनगणना डाटा के आधार पर तैयार किया गया है। इनमें छोटे व्यापारी, स्मार्ट राशन कार्ड धारक परिवार, किसान परिवार व निर्माण मजदूर शामिल हैं। बीमा योजना का कार्ड बनवाने के लिए आधार कार्ड, राशन कार्ड, व्यक्तिगत पैन कार्ड जरूरी है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी टोल फ्री नंबर 104 में इस योजना से जुड़ी जानकारियां प्राप्त की जा सकती हैं।

डीसी ने बताया कि जिले में 85 अस्पतालों द्वारा आयुष्मान भारत सरबत योजना से जुड़ने के लिए आवेदन किया गया था। इसमें से 34 अस्पताल पंजीकृत हो चुके हैं।

इस अवसर पर एडीसी विशेष सारंगल, एसडीएम शिवराज सिंह बल, सिविल सर्जन डॉ. हरदीप सिंह घई, डिप्टी मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. प्रभदीप कौर जौहल उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!