जेएनएन, अमृतसर। स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल ने महानगर में कट्टर विचारधारा वाले तीन सिख युवकों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों के कब्जे से दो पिस्तौल, तीन मैगजीन और 14 कारतूस बरामद किए गए। बताया जा रहा है कि तीनों के निशाने पर वे लोग थे, जिन्होंने विगत में श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की घटनाओं को अंजाम दिया है। तीनों को अदालत ने 18 मार्च तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

एसएसओसी के अधिकारियों को सूचना मिली थी कि अजनाला के फतेहगढ़ चूडिय़ां रोड स्थित गांव श्री हरगोबिंद साहिब निवासी बलजीत सिंह, फिरोजपुर के फतेहगढ़ सभरां स्थित जीरा इलाके में रहने वाला जगदेव सिंह और खलचियां के जादूनंगल गांव निवासी मंजीत सिंह पंजाब में बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं। इस पर पुलिस ने शुक्रवार दोपहर छापामारी कर तीनों को हथियारों सहित धर लिया।

आरोपितों ने उक्त हथियारों को मध्य प्रदेश के इंदौर जिले से किसी सप्लायर से खरीदा था। पूछताछ में सामने आया कि तीनों सोशल मीडिया के जरिए एक-दूसरे के संपर्क में आए। अब वे जानकारियां एकत्र कर रहे थे कि पंजाब में किन स्थानों पर बेअदबी की घटनाएं हो चुकी हैं और उनके पीछे जिम्मेदार कौन-कौन लोग हैं।

नागपुर के गुरुद्वारे में चार साल तक ग्रंथी रहा बलजीत

पुलिस के अनुसार आरोपित बलजीत सिंह ने बताया कि वह चार साल महाराष्ट्र के नागपुर जिले में एक गुरुद्वारा साहिब में बतौर ग्रंथी काम कर रहा था। कुछ दिन पहले ही वह अजनाला में आया। यहां रहते हुए उसने अमृतसर, तरनतारन और मजीठा में अलग-अलग कट्टरपंथी संगठनों के संपर्क में रहना शुरू कर दिया। पुलिस ने कई कट्टर संगठनों से जुड़ा हुआ साहित्य भी बलजीत सिंह के कब्जे से बरामद किया है। जांच में सामने आया कि बलजीत सिंह सितंबर 2018 में थाइलैंड भी गया था।

वहीं, मंजीत सिंह 2012 से अप्रैल 2018 तक मलेशिया में रह चुका है। इस बीच, वह फेसबुक के जरिए बलजीत सिंह के संपर्क में आया था। तीसरा आरोपित जगदेव सिंह फरवरी 2019 को मलेशिया से लौटा था। यहां तीन बैठकों के बाद उन्होंने रणनीति बनाई थी कि वो जल्द से जल्द बेअदबी करने वालों का आंकड़ा तैयार कर उन्हें निशाना बनाएंगे। खुफिया एजेंसियां जांच कर रही हैं कि तीनों को फंडिंग किस देश और किस संस्था के माध्यम से हो रही है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!