जागरण संवाददाता, अमृतसर: सीएम पद से कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफा देने के बाद अब उनके खेमे के मेयर करमजीत सिंह रिटू को भी पार्षदों ने घेरना शुरू कर दिया है। पार्षद पुत्र विराट देवगन, पार्षद जगदीश कालिया और पार्षद पति सतीश बल्लू ने मेयर पर आरोप लगाए हैं कि उनके वार्ड में काम नहीं होने दिया जा रहा। हलके के विधायक व मंत्री राजकुमार वेरका को कमजोर करने की कोशिश हो रही है। उनके वार्डो में विरोधी तैयार किए जा रहे हैं ताकि आने वाले चुनाव में वेरका के खिलाफ वोट करवाई जा सकी।

विराट ने आरोप लगाया कि उनके वार्ड में तीन बार डिसिल्टिंग का टेंडर लगा है। मगर अभी तक उसे पूरा नहीं होने दिया जा रहा है। लोग परेशान हैं क्योंकि उनके घरो में गंदा पानी घुस रहा है। इसके लिए वह मंत्री राजकुमार वेरका, प्रदेस कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू और सीएम चरणजीत सिंह चन्नी से मिलकर अपनी बात रखेंगे। वहीं पार्षद कालिया ने कहा कि वह वार्ड की किसी समस्या को लेकर मेयर को संपर्क करते हैं तो उनका फोन तक नहीं उठाया जाता है। लोग गंदा पानी पीने को मजबूर है। पार्षद पति सतीश बल्लू ने कहा कि करीब डेढ़ साल से उनके वार्ड में स्ट्रीट लाइट लगाने को लेकर टाल-मटोल किया जा रहा है। कई बार अधिकारियों को कहने पर भी काम नहीं हो रहा है। मेयर ने नकारे आरोप

मेयर रिटू ने आरोपों को नकारते हुए कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं है। पूरे शहर का विकास एक जैसा करवाया जा रहा है। जिन इलाकों में अगर कोई प्रोजेक्ट पेडिग है तो वह चेक करवाकर वह काम जल्द शुरू करवाएंगे।

Edited By: Jagran