जासं, अमृतसर : ट्रेनों में चलने वाले गार्डों को रेलवे ने एक तोहफा दिया है। इन गार्डों को अब ट्रेन मैनेजर का नाम दिया है। भारतीय रेलवे की तरफ से इस संबंधी आदेश जारी कर दिया गया है, जिसमें साफ कहा गया है कि इन आदेशों को तुरंत अमलीजामा पहनाया जाए। रेलवे के इस फैसले के बाद रेलवे गार्डों में काफी खुशी है और उन्होंने रेलवे के इस फैसले को सराहनीय कदम बताया है। बता दें कि पिछले लंबे समय से यह गार्ड के नाम को बदलने की मांग चली आ रही थी। अमृतसर रेलवे स्टेशन से 60 के करीब गार्ड ट्रेनों को लेकर रवाना होते हैं। उन्होंने इस फैसले को ऐतिहासिक बताया है।

अखिल भारतीय गार्ड परिषद के केंद्रीय कार्यकारिणी सदस्य एवं ओबीसी संगठन फिरोजपुर के मंडल सचिव ब्रजेश कुमार ने इस फैसले को सराहनीय बताया और कहा कि परिषद की पिछले लंबे समय से मांग थी कि ट्रेनों के गार्ड का नाम बदलकर ट्रेन मैनेजर रखा जाए। उनकी मांग पर सरकार ने फैसला लेते हुए 13 जनवरी को पत्र जारी कर उनका पदनाम बदलकर गार्ड से ट्रेन मैनेजर कर दिया है।

आल इंडिया गार्ड कौंसिल के सेक्रेटरी महिद्र कुमार शर्मा का कहना है कि पिछले लंबे समय से ही यह मांग चली आ रही थी, जिस पर अब गौर किया गया है। उन्होंने कहा कि ट्रेनों में चलने वाले गार्ड को नाम दिया गया था, वह सम्मानजनक नहीं था। अंग्रेजों के समय से ही यह नाम चला आ रहा था। उन्होंने कहा कि एनआरएमयू की तरफ से भी इस नाम को बदलने की मांग की थी। इस पर अब फैसला आया है।

Edited By: Jagran