जागरण संवाददाता, अमृतसर

शहर के अंदरून हिस्से में स्थित निगम के जनाना अस्पताल को सेहत विभाग को दिए जाने के खिलाफ शुक्रवार को भाजपा जिला प्रधान सुरेश अरोड़ा ने पार्टी पार्षदों की बैठक बुलाई। भाजपा ने यह मोर्चा करोड़ों रुपये की निगम की जमीन पंजाब सरकार को दिए जाने के खिलाफ कैप्टन अमरिदर सिंह की सरकार तथा निगम के मेयर तथा विधायकों के खिलाफ खोला है।

भाजपा प्रधान महाजन ने कहा कि निगम की ओर से संचालित जनाना अस्पताल पिछले कई वर्षों से सेवाएं दे रहा है। यह एक साजिश के तहत जायदाद पंजाब सरकार को दी जा रही है, जो शहर की जनता के साथ धोखा है। उन्होंने कहा कि यह किसी कीमत पर नहीं देंगे। भाजपा ने जनता के हकों की बात की है और इसके लिए बड़ी-बड़ी लड़ाईयां भी लड़ीं। निगम में विपक्ष के पार्षद दल की नेता संध्या सिक्का ने कहाकि ढाब खटिकां के निगम के जनाना अस्पताल को बिना हाउस की इजाजत सेहत विभाग को नहीं दिया जा सकता।

पार्षदों ने कहा कि 1995 में निगम पर जब कांग्रेस का कब्जा था, तब भी निगम के बिजली घर एवं बिजली घर सारी इमारतें व जायदाद बिजली बोर्ड को दी थी। जिसका खामियाजा आज तक जनता भुगत रही है। उन्होंने कहाकि अगर कांग्रेस सरकार ऐसी गलती दोबारा दोहराती है तो मुद्दा निगम की बैठक में उठाया जायेगा। निगम में कोई हल नहीं निकलने पर इसे जनता के दरबार में लाया जाएगा और चुनावों में जनता खुद इसका जवाब देगी। उन्होंने कहाकि अगर निगम अस्पताल नहीं चला सकता तो मेयर एवं विधायक को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। इस अवसर पर प्रदेश प्रवक्ता राजेश हनी, राजेश कंधारी, डॉ. राम चावला, अनुज सिक्का, पार्षद अमन ऐरी, सुखमिदर पिटू, भी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!