जागरण संवाददाता, अमृतसर: शहर के विभिन्न स्थानों पर प्लाट व फ्लैटों की बोली को स्थानीय निकाय विभाग के डायरेक्टर ने आदेश जारी कर रद कर दिया। फिलहाल यह बोली अब दोबारा कब करवाई जाएगी। इसकी तारीख अभी निर्धारित नहीं की गई है। बोली रद होने के कारण एक बोलीकर्ता की ओर से की गई शिकायत रही। इसमें बोलीकर्ता ने रजिस्ट्रेशन संबंधित तारीखों में मर्जी से बढ़ोतरी करने और अपने चहेतों को अलाटमेंट करवाने के इरादे से नियम बदलने के आरोप लगाए थे। पूरे तथ्यों को गंभीरता से लेते हुए डायरेक्टर की ओर से फिलहाल बोली को रोक दिया गया है। ईओ जतिदर सिंह ने कहा कि इस संबंधी चंडीगढ़ में मीटिग की जा रही है। तारीख को बदलने संबंधी जो भी कर्मचारी या अधिकारी जिम्मेदारी है। उनके खिलाफ बनती कार्रवाई अगले आदेश के मुताबिक की जाएगी। यह लिखा है आदेशों में

बोली रद होने के आदेश में लिखा गया है कि विभाग के पास मंदीप सिंह नाम के व्यक्ति ने शिकायत दी थी। इसमें लिखा गया है कि 18 अक्टूबर को बोली की तारीख रखी गई थी। मगर बाद में तारीख बढ़ाकर 28 अक्टूबर कर दी गई। इसके साथ ही रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख 25 अक्टूबर शाम पांच बजे तक का समय रखा गया था। मगर 25 अक्टूबर की शाम 7.24 बजे आनलाइन साइट पर रजिस्ट्रेशन की तारीख को बढ़ाकर 26 अक्टूबर दोपहर तीन बजे तक कर दिया गया। फिर से 26 अक्टूबर को शाम 4.23 बजे रजिस्ट्रेशन की तारीख बढ़ाकर 27 अक्टूबर कर दिया गया। ऐसे में 25 अक्टूबर को तय समय पांच बजे के बाद तारीख को बढ़ाया गया। इसी तरह 26 अक्टूबर को भी दोपहर तीन बजे तक का समय तय हुआ था और उसके बाद तारीख को बढ़ाया गया। इस संबंधी आम लोगों को कोई जानकारी नहीं थी। 125 करोड़ की संपत्तियों की होनी थी बोली

नगर सुधार ट्रस्ट की ओर से शहर के विभिन्न जगहों पर करीब 125 करोड़ रुपये की संपत्तियों की बोली होनी थी। इनमें न्यू अमृतसर, 97 एकड़ स्कीम, माल मंडी के फ्लैट, अजनाला रोड, रणजीत एवेन्यू, हाल के अंदर पार्किंग सहित आदि जगहों पर प्लाट थे। सभी जगहों पर जमीनों की कीमत आसमान छूह रही है। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा लोग इसमें रजिस्ट्रेशन करवा कर फायदा उठाना चाहते थे।

Edited By: Jagran