— हॉस्टल के समीप इमारत के निर्माण में जुटे थे मजदूर

फोटो — 57

जागरण संवाददाता, अमृतसर

सरकारी मेडिकल कॉलेज के डी-ब्लॉक हॉस्टल के समीप बिना मंजूरी के इमारत का निर्माण करवाया जा रहा था। जानकारी मिलने पर प्रिसिपल ने दखल देकर इमारत के काम को रुकवा दिया है।

हॉस्टल के समीप बन रही इस इमारत की नींव रख दी गई थी। दीवारें खड़ी करने की प्रक्रिया जारी थी। बुधवार को प्रिसिपल डॉ. सुजाता शर्मा को इस बात की जानकारी मिली तो उन्होंने मौके पर जाकर मजदूरों से पूछा कि वह किसकी परमीशन से यहां इमारत बनवा रहे हैं। मजदूरों ने कहा कि उन्हें मैस संचालक ने कहा है। इस पर डॉ. सुजाता ने मजदूरों को आदेश दिया कि वह इमारत का काम बंद कर दें। डॉ. सुजाता ने कहा कि इमारत का निर्माण करवाने वाले पर कानून के अनुसार कार्रवाई होगी। मेडिकल कॉलेज में बिना परमीशन कोई भी काम नहीं करवाया जा सकता।

यहां उल्लेख करना जरूरी है कि मेडिकल कॉलेज स्थित पुराने हॉस्टल की खस्ताहाल स्थिति में पहुंचने के बाद नया हॉस्टल बनाया गया था। इसी हॉस्टल के नजदीक अवैध रूप से इमारत बनाने का काम चल रहा था। डॉ. सुजाता ने कहा कि वह इस मामले में सख्त कार्रवाई करेंगी।

Posted By: Jagran