संवाद सहयोगी, अमृतसर : सोमवार सुबह पौने पांच बजे ही ठेके पर कार्यरत ड्राइवरों व कंडक्टरों ने अमृतसर बस अडडे के सभी मुख्य द्वारों के बाहर बैठ कर सभी सरकारी, निजी व मिनी बसों का आवागमन रोक दिया। करीब साढ़े 11 बजे तक ड्राइवरों व कंडक्टरों के रोष प्रदर्शन के कारण बसों का चक्का जाम रहा। करीब पांच घंटे से अधिक समय तक बसें बंद रहने से यात्री परेशान रहे। निजी बसों को भी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा। पंजाब रोडवेज पनबस की बसें भी सड़कों पर भी दौड़ती हुई दिखाई नहीं दी। 24 घंटे तक चलने वाली हड़ताल के कारण पंजाब रोडवेज अमृतसर डिपो नंबर वन व टू से चलने वाली करीब 90 प्रतिशत बसों का पहिया सोमवार की देर रात 12 बजे तक रुका रहा। दोपहर साढ़े 11 बजे कर्मियों ने प्रदर्शन समाप्त किया जिसके बाद बसें चलनी शुरू हुई। हालांकि पंजाब राडवेज व पनबस की बसें नाममात्र की ही सड़कों पर निकल की। हड़ताल के कारण दिल्ली जाने वाली कोई भी बस रवाना नहीं हुई। वही चंडीगढ़ के लिए सिर्फ दो टाइम ही सरकारी बसें चलीं। जम्मू के लिए एक व अन्य लंबे रूट में कोई भी सरकारी बस नहीं चली। इसके अलावा छोटे रूट की बसें भी प्रभावित रहीं। उल्लेखनीय है कि बस चालकों को 10300 रुपये व कंडक्टरों को 9500 रुपये प्रति माह वेतन मिलता है जिसमें एक परिवार का गुजारा मुश्किल है।

इधर, यात्रियों विशाल कुमार निवासी संधू कालोनी, रमेश कुमार निवासी रा¨जदर नगर ने बताया कि हड़ताल के कारण उन्हें काफी परेशानी उठानी पड़ी है।

क्या कहते हैं जीएम : अमृतसर डिपो के जीएम इंद्रजीत ¨सह चावला ने कहा कि हड़ताल के कारण काफी बसें प्रभावित हुई हैं। नुकसान तो हड़ताल के कारण होता है।

अमृतसर डिपो वन व टू में शत-प्रतिशत हड़ताल

अमृतसर डिपो वन व टू में हड़ताल शत-प्रतिशत रही। पंजाब रोडवेज पनबस कांट्रेक्ट वर्कर यूनियन के प्रधान केवल ¨सह ने कहा कि यह हड़ताल कांट्रेक्ट कर्मियों को पक्का करवाने के लिए की गई। सुप्रीम कोर्ट का फैसले 16 अक्टूबर 2916 के अनुसार बराबर काम बराबर तनख्वाह लेने के लिए पनबस का समूह स्टाफ बसों सहित पंजाब रोडवेज में शामिल करवाया जाएगा। बिना कारण नौकरी से निकाले गए मुलाजिम बहाल करवाए जाएंगे। पंजाब रोडवेज में आउटसोर्सिग बंद करवाई जाएगी। अमृतसर बस स्टैंड पर सुबह पांच बजे से लेकर शाम पांच बजे तक विशाल रोष रैली की गई। बस स्टैंड पूर्ण जाम रखा गया है।

मुलाजिम नेता जोध ¨सह, बलजीत ¨सह, बल¨जदर ¨सह, केवल ¨सह, तर¨जदर ¨सह, सुखचैन ¨सह ने रोष रैली की अगवाई की। रोष रैली को संबोधन करते हुए न¨रदर पाल चमियारी, सुच्चा ¨सह ने कहा कि पनबस वर्करों की मांगों की मांगे जायज हैं। इस अवसर पर जीत राज बावा, ¨प्रसिपल वजीर चंद, तर¨जदर ¨सह, शिवपाल ¨सह, बिक्रम ¨सह, जरनैल ¨सह, गुर¨वदर ¨सह, शमशेर ¨सह, कुलवंत ¨सह कूकेवाली, बिक्रमजीत ¨सह आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!