संवाद सहयोगी, अमृतसर : दिव्य ज्योति जागृति संस्थान की ओर से बांके बिहारी गली माता चितपुर्णी मंदिर बटाला रोड पर तीन दिवसीय श्री हरि कथा का आयोजन किया गया।

पहले दिन साध्वी अनुराधा भारती ने प्रहलाद प्रसंग सुनाते हुए कहा कि वक्त का तांत्रिक अर्थ तो सभी जानते हैं कि जो भगवान का गुणगान करता है, परंतु वक्त की उच्च पदवी को प्राप्त करने के लिए किन-किन बाधाओं का सामना करना पड़ता है। यह भक्तों के पावन चरित्र को जानने के पश्चात ही पता चलता है। साध्वी जी ने बताया कि यह सृष्टि का अटल सत्य है कि जो सूर्य उदय होता है, वह अस्त भी होता है। ठीक इस प्रकार जिसने मनुष्य जीवन को प्राप्त किया, एक ना एक दिन मृत्यु को प्राप्त करता है। इसके अतिरिक्त साध्वी चंद्रप्रभा भारती, पूजा भारती व प्रकाशा भारती जी ने सुमधुर भजनों से श्रद्धालुओं का भाव विभोर किया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!