जागरण संवाददाता, तरनतारन : सांड के हमले से एक महिला सहित दो लोगों की मौत हो गई। सोमवार को एक सांड ने मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी गई। इससे बाइक चालक 55 वर्षीय बलजीत सिंह गिल की मौत हो गई। उल्लेखनीय है कि इससे पहले अमृतसर में स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर भी एक सांड हमला कर दिया था, जिसमें वह सुरक्षा कर्मियों की सतर्कता की वजह से बालबाल बच गए थे। हलांकि तरनतारन में यह इस तरह का पहला मामला है।

बताया जा रहा है कि झब्बाल बाइपास पर ग्रिल बनाने वाले मिस्त्री बलजीत सिंह गिल (55) अपनी बाइक से बोहड़ी चौंक तरनतारन आए थे। अपना का निपटाने के बाद जब वह वापिस जा रहे थे तो बाइपास पर एक सांड भागता हुआ आया और मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी, जिससे बलजीत सिंह सड़क पर गिर पड़े। सिर में गंभीर चोट के कारण उसकी मौत हो गई।

प्रत्यक्षदर्शी हरविंदर सिंह व सविंदर सिंह शिंदा ने बताया कि शहर की सड़कों पर काफी संख्या में लावारिश घूमते हैं। उन्होंने कहा कि अगर प्रशासन अनी जिम्मेदारी निभाता तो शायद बजलीत सिंह की मौत नहीं होती। लोगों ने इसके लिए सीधे तौर पर नगर कौंसिल को जिम्मेदार ठहरा।

सांड के हमले से जख्मी वृद्धा ने दम तोड़ा

उधर, सांड के हमले में गंभीर रूप से जख्मी हुई गांव पहूविंड वासी वृद्धा कश्मीर कौर ने सोमवार को दम तोड़ दिया। उल्लेखनीय है कि शनिवार को कश्मीर कौर कस्बा भिखीविंड में किसी काम से गई थीं। सड़क पार करते समय एक सांड ने उन्हें सिग पर उठा कर जमीन पर फेंक दिया था, जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गई थी और उनका उपचार एक निजी अस्पताल चल रहा रहा था। दोनों मृतकों के परिजनों ने प्रशासन से मुआवजे की मांग की है। द

डीसी ने एसडीएम से मांगी रिपोर्ट

डिप्टी कमिश्नर प्रदीप सभ्रवाल ने कहा कि लावारिश पशुओं को गोशाला भेजे जाने के आदेश दिए गए हैं। तरनतारन में बलजीत सिंह गिल और भिखीविंड में कश्मीर कौर की मौत के संबंध में एसडीएम से रिपोर्ट मांगी गई है। उन्होंने कहा कि लावारिश पशुओं के कारण अगर कोई हादसा होता है तो संबंधित क्षेत्र के एसडीएम की जवाब तलबी की जाएगी।

Posted By: Jagran