जागरण संवाददाता, ब्यास. अमृतसर : खलचियां के गांव छज्जलवड्डी में पंजाब एंड सिंध बैंक की शाखा में शनिवार दोपहर डकैती में 7.83 लाख रुपये लूट लिए गए। कार में आए पांच से छह लुटेरों ने बैंक के गार्ड और मैनेजर को बंदी बनाकर पिस्तौलों के बल पर स्टाफ को धमकाया और कैश काउंटर में पड़ी उक्त राशि लूटकर फरार हो गए। उन्होंने बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे भी तोड़ दिए और डीवीआर साथ ले गए। बार्डर रेंज के आइजी सुरिदर पाल सिंह परमार ने ब्यास, अमृतसर, तरनतारन और बटाला को जाते सभी रास्तों पर नाकाबंदी कर लुटेरों की तलाश शुरू कर दी है। एसएसपी (देहाती) विक्रम दुग्गल ने दावा किया है कि आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

बैंक मैनेजर राम नारायण ने बताया कि शनिवार दोपहर सारा स्टाफ अपने-अपने काम में व्यस्त था। इस बीच कार में 5-6 पिस्तौलधारी युवक बैंक परिसर में घुस आए। एक लुटेरे ने पिस्तौल दिखाकर गार्ड को बंधक बना लिया। इसी दौरान एक अन्य लुटेरा उनके पास पहुंचा और उनकी कनपटी पर पिस्तौल तान ती। बाकी लुटेरों ने बैंक स्टाफ सदस्यों को अपनी-अपनी जगह पर रहने की धमकी दी। इसके बाद एक लुटेरा कैश काउंटर पर पहुंचा और वहां रखे 7.83 लाख रुपये अपने बैग में डाल लिए। पैसे बैग में डालने के बाद उन्होंने बैंक में लगे सभी सीसीटीवी कैमरे भी तोड़ दिए। जाते-जाते अपने साथ डीवीआर भी ले गए।

रास्तों पर लगे कैमरे खंगाल रही पुलिस

एसएसपी विक्रम दुग्गल ने बताया कि पुलिस छज्जलवड्डी के अलावा अन्य गांवों की तरफ जाने वाले और आने वाले रास्तों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। पुलिस ने आशंका जताई है कि लुटेरे किसी आसपास के गांव के ही लगते हैं क्योंकि नाकाबंदी करने के बावजूद लुटेरों का कहीं सुराग नहीं लगा।

पुलिस ने तैयार करवाए स्कैच

पुलिस ने बैंक मैनेजर और गार्ड की सहायता से लुटेरों के स्कैच तैयार करने की प्रक्रिया शुरू करवा दी है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने जब मैनेजर राम नारायण को पुराने लुटेरों का फोटो रिकार्ड दिखाया तो उनमें दो आरोपितों की पहचान कर ली गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!