जागरण संवाददाता, अमृतसर : फोकल प्वाइंट की सड़कों, सीवरेज व्यवस्था को सुधारने के लिए किए गए काम पर फोकल प्वाइंट इंडस्ट्री वेलफेयर एसोसिएशन ने एक बार फिर से सवाल खड़े किए हैं। एसोसिएशन का आरोप है कि एक लंबे समय के बाद नगर निगम ने फोकल प्वाइंट इलाके की सड़कें बनवाने के लिए घटिया मटीरियल का प्रयोग किया गया है और इसमें ठेकेदार की ओर से गोलमोल किया गया था। अभी एक महीना पहले सड़कें बनी हैं और एक भी बारिश झेल नहीं पाई। इसका नतीजा है कि सड़कें उखड़नी शुरू हो गई हैं।

एसोसिएशन के प्रधान संदीप खोसला ने बताया कि फोकल प्वाइंट पर 400 से ज्यादा यूनिट है। मगर यहां की सड़कों व सीवरेज की हालत दयनीय बनी हुई थी। इस संबंधी पिछले आठ सालों के दौरान उन्होंने सरकार व प्रशासन को दर्जनों ही पत्र लिखे थे। कई बार मंत्रियों नेताओं के साथ मीटिग कर भी अपनी बात रखी। मगर किसी ने कोई सुनवाई नहीं की। अब करीब एक महीने पहले नगर निगम की ओर से सड़कें बनवानी शुरू की थी। मगर पिछले सप्ताह हुई बारिश के बाद सड़कों से सारी बजरी उखड़नी शुरू हो गई है। जबकि दावा किया गया था कि अब कई सालों तक सड़कों को कुछ नहीं होगा। खोसला ने कहा कि उद्योगपति सबसे ज्यादा टैक्स अदा करते हैं, मगर उनको भी सरकार और प्रशासन की ओर से मूलभूत जरूरतें मुहैया नहीं करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि निगम को चाहिए कि दोबारा से फोकल प्वाइंट इलाके की सड़कें बनवाई जाएं। इस बारे में जानकारी नहीं है। मगर सोमवार को ही वह अपनी टीम भेज कर इलाके का जायजा लेंगे और साथ ही जिस ठेकेदार ने सड़कों का निर्माण करवाया है, उससे भी जवाब मांगा जाएगा और उचित कार्रवाई भी होगी।

संदीप रिषी, निगम कमिश्नर

Edited By: Jagran