संवाद सहयोगी, अमृतसर

फतेहगढ़ चूड़ियां के गांव आजमपुर के गुरमुख सिंह ने आइजी मोहनीश चावला से गुहार लगाई है कि उसकी पत्नी और दो बच्चों को एक बाबा के चंगुल से रिहा करवाया जाए। इसके साथ ही बाबा के खिलाफ बनती कार्रवाई भी की जाए। उधर, आइजी ने एसएसपी बटाला को जांच के आदेश दिए हैं।

गुरमुख सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि कुछ साल पहले उसकी शादी सुरेंद्र कौर के साथ हुई थी। वह अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ रह रहा था। पांच साल पहले वह काम के सिलसिले में दुबई चला गया। एक दिन उसकी पत्नी बीमार हो गई और किसी रिश्तेदार के कहने पर वह भिखीविड के एक बाबा से इलाज करवाने चली गई। अब उसे पता चला कि बाबा ने उसकी पत्नी और बच्चों को अपने चंगुल में फंसा लिया और उसे अपने पास ही रखा हुआ है। जब उसने लौट कर बाबा से बात की तो बाबा ने उसे जान से मारने की धमकियां दी। पीड़ित ने आइजी, डीजीपी और सरकार से उक्त बाबा के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने की गुहार लगाई है।

Edited By: Jagran