सब हेड-रेलवे ने टिकट रद करने और रिफंड के नियमों में किया बदलाव, अब यात्रियों को जेब पर चलेगी डबल कैंची हरीश शर्मा, अमृतसर

रेलवे ने ट्रेन का टिकट रद करने और रिफंड के नियमों में बदलाव किए हैं। अब यात्री अगर ट्रेन टिकट रद करवाता है तो रेलवे दोगुना कैंसलेशन चार्जेस वसूल करने के बाद पैसे रिफंड करेगा। इसके अलावा अब ट्रेन छूटने से 30 मिनट पहले ही वेटिग वाली टिकट कैंसिल करवाई जा सकेगी। जबकि पहले ट्रेन छूटने के दो घंटे बाद तक टिकट कैंसिल करवाई जा सकती थी। रेलवे बोर्ड की तरफ से इस संबंधी शेड्यूल जारी कर दिया गया है। अब नए नियमों के जारी होने पर यात्रियों की जेब पहले से ज्यादा कटेगी। यात्रियों को मिलने वाले रिफंड में भारी कटौती की जाएगी।

यह हैं नए नियम

रेलवे के नए बदलाव के मुताबिक ट्रेन के निर्धारित समय से 48 घंटे पहले और छह घंटे के बीच कंफर्म टिकट कैंसिल करवाने की जगह अब 48 से 12 घंटे के बीच इसे रद करवाना पड़ेगा। इस पर 25 प्रतिशत फिक्स चार्ज लगेगा। इसी तरह अगर 12 घंटे से चार घंटे पहले तक टिकट कैंसिल करवाई जाती है तो उस पर 50 प्रतिशत चार्ज लगेगा। ट्रेन चलने के चार घंटे के दौरान टिकट रद करवाने पर कोई रिफंड नहीं मिलेगा। इसके अलावा अन-रिजर्वर्ड, आरएसी और वेटिग लिस्ट टिकट के रद करवाने पर 60 रुपए कट कर बाकी पैसे रिफंड होंगे। अगर आपने दो टिकट करवाई हैं। उसमें से एक कंफर्म है। जबकि दूसरी वेटिग में है तो इसे रद करवाने के समय में भी बदलाव किया गया है। पहले ट्रेन छूटने के दो घंटे बाद तक टिकट रद करवा सकते थे। मगर अब इस समय को बदल कर ट्रेन छूटने के आधा घंटे पहले तक कर दिया गया है। इसके बाद टिकट रद करवाने पर रिफंड नहीं मिलेगा।

कंफर्म टिकट 48 घंटे पहले रद करवाने पह लगेंगे यह चार्ज

क्लास- पहले अब

1.फ‌र्स्ट एसी, एग्जीक्यूटिव क्लास 120 240

2.एससी, फ‌र्स्ट क्लास 100 200

3.एसी,एससी, 3ए इकोनामी 60 180

4.स्लीपर क्लास 60 120

5.सेकेंड क्लास 30 60

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!