संवाद सहयोगी, अमृतसर : पूर्व मंत्री प्रो. लक्ष्मीकांता चावला ने कहा है कि राजनेता जनता पर रहम करें। ऐसा लगता है जैसे बिल्लियों के भागो से छिक्का टूट गया है। खाली बैठे राजनेताओं को शराब की मौतों ने जैसे बहुत बेचैन कर दिया है। यह भूल गए कि नकली शराब बेचने, पीने, पिलाने का धंधा राजनीतिक नेताओं के बिना चल ही नहीं सकता। गांवों में कौन शराब पीता-पिलाता है, कौन नकली बांटता है, कहां भट्ठियां चलती हैं यह सब वे राजनीतिक कार्यकर्ता जानते हैं जो आज सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करते हैं और कोरोना से बचने के जितने नियम हैं सब तोड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह राजनीतिक शक्ति का दिखावा करना है। इसे बाद में कर लें। अभी तक जिसको सचमुच दुख है वह शराब से मरने वालों के परिवारों के लिए पास और उनके पालन पोषण का, बच्चों की शिक्षा का प्रबंध करें।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!