जागरण संवाददाता, अमृतसर। पंजाब के कैबिनेट मंत्री और चीफ खालसा दीवान के अध्यक्ष डा. इंद्रबीर सिंह निज्जर किसानों का आरामपरस्त और पंजाबियों को बेवकूफ कौम कहकर घिर गए हैं। हालांकि बयान का विरोध हुआ तो बाद में उन्होंने माफी भी मांग ली।

भारतीय किसान यूनियन की अध्यक्ष अजमेर सिंह लक्खोवाल ने मंत्री के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि निज्जर खुद खेतों में जाकर देखें कि किसान किसान आराम करते हैं और कितना काम करते हैं। जिसके बाद निज्जर ने कहा कि उनके बयान से पंजाबियों के मन को ठेस पहुंची है और वह इसके लिए माफी मांगते हैं।

दरअसल, निज्जर बुधवार को चीफ खालसा दीवान की एक बैठक में हिस्सा लेने आए थे और उसके बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने यह बयान दिया था। निज्जर ने कहा कि किसान पहले अपने खेतों में नहरों का पानी इस्तेमाल करते थे, लेकिन अब नहरों में पानी ही नहीं आता। किसानों आरामपरस्त हो गए हैं। यह लोग अब पानी मांगते ही नहीं है और नहरी विभाग के लोग इसलिए पानी देते भी नहीं हैं।

किसान सबसे ज्यादा पानी व्यर्थ कर रहा

पहले तो लोग पानी के लिए लड़ते थे, अब किसानों को निश्शुल्क बिजली के कारण खेतों की सिंचाई के लिए पानी भी निश्शुल्क मिल जाता है। बटन दबाते ही ट्यूबवेल चल जाते हैं और खेतों में पानी ही पानी हो जाता है। मंत्री ने कहा कि पहले समय में जब नहर का पानी खेतों में लगाना पड़ता था तो उसके लिए दो लोगों की जरूरत पड़ती थी। अब किसान सबसे ज्यादा पानी व्यर्थ कर रहा है। हम चावल की खेती कर रहे हैं, जिसमें बड़ी मात्रा में पानी खर्च होता है। पंजाब राजस्थान बनता जा रहा है।

किसानों के मुद्दे हल करने की कोशिश कर रही सरकार, पंजाब का लिहाज करें

किसानों के धरनों को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में निज्जर ने कहा कि सरकार किसानों का हर एक मुद्दा हल करने की कोशिश करती है। किसानों के गन्ने की 100-150 करोड़ रुपये की बकाया राशि जारी की जा चुकी है। गुलाबी सुंडी और सफेद मक्खी के कारण खराब हुई कपास की फसल का मुआवजा भी दिया जा चुका है। यह अकाली दल की सरकार के समय से लंबित था।

मूंग की एमएसपी देने का जो वादा आप ने किया था, वह भी पूरा किया गया है। किसानों के लिए जो कुछ भी सरकार कर सकती है, कर रही है। परंतु किसान इसके बावजूद धरने दे रहे हैं जो सही नहीं है। किसानों को समझना चाहिए कि सरकार का बजट सभी के लिए है, शहरों की तरफ देखना भी जरूरी है। शहर के लोगों को पानी, सीवरेज, शिक्षा और सेहत क्षेत्र की सेवाएं भी देनी होती है। सारा पैसा एक ही विभाग को नहीं दिया जा सकता है। किसानों को पंजाब का लिहाज करना चाहिए। जिस दिन आम आदमी पार्टी गलत होगी, उसके मंत्री या विधायक गलत हो जाएंगे तो उसी दिन किसान उन्हें कटघरे में खड़े कर लें।

हथियारों वाली तस्वीरों को लेकर राजनीति न हो

पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया द्वारा मंत्री अनमोल गगन मान की इंटरनेट मीडिया पर हथियारों के साथ तस्वीरों को लेकर केस दर्ज करने की मांग पर निज्जर ने कहा कि विरोधियों को राजनीति नहीं करनी चाहिए। वह जनता के भले के लिए काम करें। सरकार ने अगर हथियारों वाली तस्वीरें हटाने के लिए कहा है तो वह सभी को हटानी चाहिएं। भले ही वह सत्ता पक्ष का कोई नेता हो या विरोधी पार्टी का नेता। 

Edited By: Pankaj Dwivedi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट