जेएनएन, अमृतसर। पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल करतारपुर साहिब के दर्शन करने जाने से पहले शुक्रवार को श्री हरिमंदिर साहिब पहुंचे। वहां उन्होंने श्री अकाल तख्त साहिब पर अरदास की। इस माैके पर बादल ने कांग्रेस नेता नवजाेत सिंह सिद्धू पर भी निशाना साधा। कहा कि करतारपुर का रास्ता खोलना एक ऐतिहासिक फैसला है, इसमें केंद्र सरकार की विशेष भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि इस करतापुर कॉरिडोर के निर्माण में नवजोत सिंह सिद्धू की कोई भूमिका नहीं है।

उन्होंने कहा कि श्री हरिमंदिर साहिब में महिलाओं को कीर्तन करने का अधिकार देना श्री अकाल तख्त साहिब का मामला है। इस फैसले का सबको सम्मान करना चाहिए। प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि सुल्तानपुर लोधी में दो स्टेज लगाना गलत है। एसजीपीसी की तरफ से स्टेज लगाना तो सही है, क्योंकि एसजीपीसी एक धार्मिक संस्था है और धार्मिक संस्था की तरफ से लगाए गए स्टेज पर ही धार्मिक कार्यक्रम होने चाहिए।

पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि गुरु साहिब के प्रकाश पर्व पर किसी प्रकार की राजनीति नहीं होनी चाहिए। गुरु जी के प्रकाश पर्व को सभी पार्टियों व धर्मों के लोगों को मिल जुलकर मनाना चाहिए।

सरना ने कहा था, इमरान और सिद्धू को जाता है करतारपुर कॉरिडोर का श्रेय

बता दें, अकाली दल दिल्ली के अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना गत सुबह अटारी सीमा से पाकिस्तान रवाना हुए। इससे पहले उन्हें 31 अक्टूबर को दिल्ली से पहुंचने नगर कीर्तन के साथ पाकिस्तान जाने से रोक दिया गया था। वह अब नगर कीर्तन में शामिल संगत के साथ लौटेंगे। रवाना होने से पहले उन्होंने करतारपुर कॉरिडोर खोले जाने का श्रेय पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और विधायक नवजोत सिंह सिद्धू को दिया था। 

पत्रकारों से बातचीत में सरना ने कहा कि गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के लिए कॉरिडोर खुलने से सिख कौम में भारी खुशी है। इसका सारा श्रेय इमरान खान व नवजोत सिंह सिद्धू को ही जाता है, जिनकी कोशिशों से यह रास्ता खुल सका है। सिख लम्बे समय से इसे खोलने की मांग कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सिद्धू आज चुप हैं। हो सकता है कि उनकी कोई मजबूरी हो, परंतु वह इस श्रेय के हकदार हैैं। 

नगर कीर्तन के साथ पाकिस्तान जाने से रोकने के विषय पर सरना ने कहा कि उन्हें राजनीतिक साजिश के तहत रोका गया था। अदालत ने उन्हें पाकिस्तान जाने की इजाजत दे दी है। भारत सरकार की ओर से उनको नगर कीर्तन के साथ जाने से रोकने के लिए जो लुक आउट सर्कुलर जारी किया गया था, उसे अदालत ने 16 नवंबर तक निलंबित कर दिया है। वह अब नगर कीर्तन में गई संगत के साथ ही भारत लौटेंगे। सरना ने कहा कि उनके खिलाफ झूठा मामला दर्ज किया गया है और जल्द ही इसकी सच्चाई दुनिया के सामने आ जाएगी। उन्होंने आरोप लगाए कि साजिश के तहत बादल परिवार ने ही उन पर झूठा मामला दर्ज करवाया था।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!